भाभी की raseeli चूत

भाभी की चूत का आनंद मिला

मेरे प्रिय दोस्तों, मेरा नाम अरमान सिंह है और में जयपुर राजस्थान में रहता हूँ. में 25 साल का हूँ और में एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता हूँ, मेरी हाईट 5.8 है और में बिल्कुल गोरा चिट्टा सुंदर लड़का हूँ. मुझे बस सेक्स से प्यार है और सेक्स ही मेरी बहुत बड़ी कमज़ोरी है.
अब में अपनी स्टोरी पर आता हूँ. दोस्तों कुछ दिनों पहले मुझे एक लेडी का मैल आया और उन्होंने मुझसे कहा कि वो मुझसे मिलना चाहती है, उनका नाम रानी था, तो मैंने उनसे उनके मोबाईल नंबर माँगे और उन्होंने मुझे अपने नंबर दे दिए. फिर मैंने उन्हे कॉल किया और मुझे बात करते समय उनकी आवाज़ बहुत मीठी, प्यारी लगी और फिर बहुत देर तक हमारी बातें हुई. दोस्तों उनके दिल में डर था कि कहीं में झूठा तो नहीं या कोई मज़ाक तो नहीं कर रहा था? फिर मैंने उन्हे समझाया कि में कोई झूठा नहीं हूँ और में उनकी किसी भी तरह मदद कर सकता हूँ, बस वो मुझे एक बार उनकी सेवा का मौका दे.
उन्होंने मुझे अपने घर का पता मैसेज कर दिया और मुझसे अगले दिन सुबह 11 बजे आने को कहा, क्योंकि जब तक उनके पति अपने ऑफिस चले जाते है. फिर में उनके दिए हुए पते पर अपने ठीक समय पर पहुंच गया और जब उन्होंने दरवाजा खोला तो दोस्तों में एकदम चकित होकर उन्हे देखता ही रह गया, क्योंकि दोस्तों वो भाभी क्या मस्त माल थी? वो गोरी चिट्टी एकदम सेक्स की देवी लग रही थी, उन्होंने नीले रंग की साड़ी पहनी हुई थी, उनका क्या मस्त फिगर था? उनके फिगर का साईज 38-32-40 था, जो मैंने उनसे बाद में पूछा था.
फिर उन्होंने मुझे अपने घर के अंदर बुलाया और मुझसे चाय, कॉफ़ी के लिए पूछा तो मैंने चाय लाने को कहा. फिर थोड़ी देर में वो चाय बनाकर लाई और हम दोनों सोफे पर आमने-सामने बैठ गये और इधर उधर की बातें करने लगे और तभी उन्होंने मुझे बताया कि उनकी शादी को 9 साल हो चुके है, लेकिन अब उनके पति उनके साथ सेक्स एंजाय नहीं करते और महीनो तक उनके साथ सेक्स करना तो बहुत दूर की बात है वो तो उन्हे अब छूते भी नहीं है. उनके दो बच्चे है जो कि हॉस्टल में पढ़ते है और फिर उन्होंने मेरा नाम और इधर उधर की बातें पूछी तो कुछ देर के बाद उन्होंने खुद ही आगे होकर मुझसे कहा कि चलो अब बेडरूम में चलते है और फिर मुझे मेरा हाथ पकड़कर अपने बेडरूम में ले गयी और मुझे किस करने लगी.
फिर मेरे होंठो को आइस्क्रीम की तरह चूसने लगी और अब में भी उनके होंठो को चूसने लगा और हम दोनों एक दूसरे में बिल्कुल मदहोश हो चुके थे और अब मेरा एक हाथ उनकी कमर को छूने लगा जिसका मुझे भी पता नहीं चला. फिर में उनके ब्लाउज के ऊपर से साड़ी को हटाने लगा तो उन्होंने एकदम से मुझे रोक दिया और उन्होंने मेरी शर्ट को खोल दिया और पेंट के ऊपर से ही मेरा लंड पकड़कर मसलने और सहलाने लगी. फिर मैंने भी जोश में आकर उनकी साड़ी को पूरा खोल दिया और अब वो बस मेरे सामने ब्लाउज और पेटीकोट में थी. फिर मैंने उन्हे बेड पर पटक दिया और अब में उनके ऊपर आ गया.
फिर हम दोनों एक दूसरे को पागलों की तरह चूमने, चाटने लगे. कुछ देर बाद वो मेरे ऊपर आ गई और मेरी छाती को चूमने लगी. फिर वो पेंट के ऊपर से ही मेरे लंड को सहलाने लगी और मेरी पेंट की जिप खोलकर मेरे लंड को पकड़कर हिलाने लगी. फिर उन्होंने मेरी पेंट को खोलकर मेरी अंडरवीयर को भी उतार दिया अब में बिल्कुल नंगा था. तो वो मेरे लंड को चूमने, चाटने लगी और मेरा लंड जो उस वक़्त किसी सांप की तरह फुंकार मार रहा था उसे अपने मुहं में ले लिया और बहुत देर तक उसको चाटती, चूसती रही.
मेरा लंड अब किसी लोहे के सरिए की तरह कड़क हो गया था. तो उसने कहा कि मेरे राजा आओ मेरी प्यास बुझा दो और आज अपने लंड से मेरी चूत को रोशन कर दो, बहुत सालों से मेरी चूत किसी से चुदने के लिए तरस रही है आज तुम इसको बहुत जमकर चोदो और इसको अपने लंड की ताकत का अंदाजा करवा दो, इसको तुम आज अच्छी तरह चोद दो.
फिर दोस्तों उसके मुहं से एसी बातें सुनकर में जोश में और भी पागल हो गया और फिर उसके बाद उन्होंने मुझे हर जगह से चाटा चूमा, लेकिन अब मेरी बारी थी तो मैंने उनका ब्लाउज खोल दिया. वाह दोस्तों क्या मस्त बूब्स थे? उनकी साईज़ 38 थी और बड़े ही मोटे मोटे बूब्स थे, जो मुझसे कह रहे थे कि प्लीज हमें आज़ाद कर दो और खा जाओ. उन्होंने लाल कलर की ब्रा और काली कलर की पेंटी पहनी हुई थी. फिर में उनकी पेंटी के ऊपर से ही चूत को चाटने लगा और वो सिसकियाँ भरने लगी थी आआह्ह्ह्हह्ह उह्ह्हह्ह्ह्ह की आवाजें निकालने लगी थी.
फिर मेरी जीभ अब उनकी चूत चाट रही थी और मेरा एक हाथ उनके दोनों बूब्स को एक एक करके दबा रहा था. फिर मैंने उन्हे गोद में लेकर अपनी बाहों में जकड़ लिया और उन्हे पूरा नंगा कर दिया. फिर उनको बाहों में लेकर प्यार करने लगा, में उन्हे प्यार कर रहा था कि तभी उन्होंने मुझसे कहा कि मेरे लंड जैसा उन्होंने अभी तक किसी का लंड नहीं देखा है और उनके पति का लंड बहुत छोटा है.
फिर मैंने उन्हे सीधा किया और उनकी चूत पर अपना लंड रख दिया और धीरे-धीरे धक्के देकर उनकी चूत में अंदर डालने लगा तो वो दर्द की वजह से चीखने चिल्लाने लगी और जब कुछ देर बाद उनका दर्द कम हुआ, तो वो कहने लगी कि आज मेरी चूत की आग बुझा दो आईईईई मेरे राजा हाँ और ज़ोर से चोदो मुझे. तुम आज मेरी चूत उह्ह्ह्हह्ह्ह्हह को चोद-चोदकर बिल्कुल शांत ऊईईईईइ कर दो मेरे राजा और फिर उन्होंने मुझे अपनी बाहों में जकड़ लिया. हम दोनों बहुत देर तक एक दूसरे को किस करते रहे. फिर उसने मुझे हर जगह किस किया जिसकी वजह से पूरे बदन में जैसे आग लग गयी और करीब 40 मिनट तक लगातार धक्के मारने और अलग-अलग स्टाइल से उन्हे चोदने के बाद वो झड़ गयी, लेकिन में अभी बाकी था तो में ज़ोर ज़ोर से उन्हे चोदने लगा और कुछ देर बाद में भी झड़ गया.
फिर उन्होंने मुझसे कहा कि मुझे आज पहली बार सेक्स करके अपनी चूत को चुदवाकर मज़े आए है और तुमने मेरी चूत को वो सुख दिया है जिसके लिए में बहुत सालों से तड़प रही थी, तुमने मुझे आज चोदकर मेरी उम्मीद से बढ़कर खुशी दी है जिसे पाने के लिए मेरी चूत सदा के लिए तुम्हारी गुलाम बनकर भी रह सकती है.
दोस्तों कुछ देर हम ऐसे ही बिल्कुल नंगे एक दूसरे के चिपके रहे और उसके बाद हम बाथरूम में भी बहुत देर तक नंगे ही पानी में गीले होते रहे और एक दूसरे के बदन की गर्मी को महसूस करते रहे मज़े लेते रहे. फिर उन्होंने कहा कि अब उनके पति आने वाले है और अब तुम चले जाओ. फिर मैंने कपड़े पहने और अपने घर पर आने लगा तो उन्होंने फिर से मुझे किस किया और कहा कि वो मुझे फिर से कोई अच्छा-सा मौका मिलते ही जरुर बुलाएँगी और फिर में वहां से चला आया. लेकिन में अब भी कभी कभी उनको चोदता हूँ और उनके साथ चुदाई के मज़े करता हूँ.
(Visited 1 times, 1 visits today)