दीदी को प्रेगनेंट किया part – 2।didi ko pregnant kiya hindi sex story by feel।

दीदी मेरे को देख के घबरा गयी और कुछ देर तक चुप चाप मेरे को देखती रही।और फिर खड़ी हुई और बोली। आज कल तू ज्यादा ही बिगड़ गया है आज आने दे पापा को आज को पापा को तेरी ये बात जरुर बताउंगी। मैं दीदी के पेरो मैं गिर गया और माफ़ी मांगी की आगे से एसी गलती कभी नही करूंगा। फिर दीदी बोली ठीक है पापा को नही बताउंगी लकिन सजा तो दे सकती हु ना।
पता नही दीदी के मन मैं क्या चल रहा था।
मेने कहा ठीक है दीदी आप जो सज़ा दोगी वो मान लूँगा। फिर दीदी बोली अपने सारे कपड़े खोल दे । मेने अपने कपड़े खोल दिए अब मैं चड्डी मैं था और मेरा लंड भी हल्का सा तन रहा
था। फिर दीदी बोली सारे का मतलब नही पता क्या चल चड्डी भी उतार । मेने चड्डी भी उतार दी। अब मैं पूरा नंगा हो के दीदी के सामने खड़ा था और अब मेरा लंड भी पूरी तरह तन के टाइट हो गया था। फिर दीदी मेरे 6.5 इंच के लंड को देख के बोली हाय इतनी सी उम्र मैं इतना बड़ा लंड क्या बात है अब तक कहा छुपा रखा था तू ने इसे। मैं बोला आप भी कम हॉट नही हो आप के भी तो मोटे मोटे बोबे है। दीदी हसी और बोली अच्छा ज्यादा बोल रहा है चल अब डांस कर। दीदी ने मेरे को डांस करवाया और मेरे हिलते हुए लंड को घुर घुर के देख रही थी।
फिर मैं बोला दीदी आप भी मेरे साथ डांस करो ना । दीदी भी मेरे साथ नाचने लेग गयी मैं तो बस दीदी की उछलते हुए बोबो को ही देख रहा था और दीदी अपनी गांड मचका मचका के नाच रही थी फिर दीदी ने अपनी नाईटी उतार दी अब वो सिर्फ पिंक ब्रा और पेंटी मैं थी। अब उन के बोबे और जोर जोर से उछल रहे थे। फिर मेरे से रहा नही गया और मेने दीदी के बोबे दबा दिए इस बार दीदी कुछ नही बोली बस एक हल्की से सेक्सी सी मुस्कान अपने चहरे पे ला दी।फिर दीदी ने मेरे को अपनी ब्रा के बटन की और इशारा किया। मैं तुरन्त समझ गया और मेने दीदी की ब्रा पीछे से खोल दी। दीदी के बोबे ऐसे दिख रहे थे मानो आकाश मैं दो चाँद आ गये हो।और उनकी टाँगे चमक रही थी। अब दीदी ने अपनी पेंटी की और इशारा करते हुए पलंग पर लेट गयी। मैं झट से गया और दीदी की पेंटी खोल दी। दीदी के चूत को देखते ही मेने उस पर किस कर दिया। और फिर हम दोनों पुरे नंगे हो गये।

अब हम दोनों नंगे थे। मैं दीदी के उपर पड़ गया और दीदी की होटो पर किस करने लगा। दीदी भी मेरा पूरा साथ दे रही थी हम दोनों ने एक दुसरे को कसके पकड़ रखा था। फिर दीदी बोली अब मेरे तो तेरे लंड के साथ खेलना है मैं पलंग पर सीधा लेट गया और दीदी मेरे उपर बेठ गयी और मेरे लंड को हाथ से हिलती तो कभी दबाती।फिर दीदी बोली ये तेरा आलू इतना मोटा क्यों है। मैं हस के बोला पता नही ये तो उपर वाले की देंन है। दीदी बोली क्या ये आलू टेस्टी है। मैं बोला आप ही टेस्ट कर लो ना फिर दीदी ने मेरा लंड चुसना शुरू कर दिया। वो मेरा लंड एसे चूस रही थी जेसे उन को लंड चूसने का बहुत अच्छा अनुभव हो। को कभी कभी मेरे लंड पर काट भी लेती मेरे को बहुत मज़ा आ रहा था। फिर दीदी ने मेरे से अपनी चूत चटवाई । करीब 5 min तक दीदी की चूत चाटने के बाद दीदी की चूत ने पानी छोड़ दिया। अब मैं अपना लंड दीदी की चूत पे रखकर बाहर बाहर मसलने लगा। अब दीदी बोली बस भाई और मत तडपा डाल दे तेरा लंड मेरी चूत मैं और फाड़ दे मेरी फुद्दी।
फिर मेने धक्का लगाया लकिन लंड मोटा होने के कारण चूत मैं नही जा रहा था। फिर दीदी बोली जा के तेल ले आ मैं तेल लाया और दीदी की चूत पर अच्छी तरहा लगाया और अपने लंड पर भी लगाया। फिर मेने दीदी की टांगो को पूरा खोल दिया और दीदी की चूत पर अपना लंड रख कर बोल ready दीदी ने हां कर दी और पलंग को कस के पकड़ लिया। फिर मेने पूरा जोर लगा दिया और मेरा आधा लंड दीदी की चूत मैं समा गया। दीदी को बहुत तेज का दर्द हुआ और वो जोर से चिल्ल्लाई और फिर बेहोश हो गयी मेने तुरंत अपना लंड बाहर निकला और डर गया। मेने अपने दोस्त को फ़ोन किया और सारी बात बताई । वो बोला कुछ नही हुआ थोड़े पानी के छिटे मार होश आ जायेंगा मेने पानी के छींटे मारे फिर दीदी धीरे धीरे दीदी को होश आ गया दीदी बोली साले छुट्टन कोई अपनी दीदी को इतनी जोर से चोदता है क्या। अब की बार धीरे से घुसना फिर मैं धीरे धीरे दीदी की चूत मैं लंड घुसाने लगा। फिर एक जोर का झटका और लंड पूरा दीदी की चूत मैं समा गया दीदी फिर जोर से चिल्ला गयी मैंने सोचा कही इस बार भी बेहोश ना हो जाएँ और मैं व्ही रुक गया फिर दीदी को किस करने लग गया जब दीदी का दर्द कम हुआ तो मेने अपना लैंड धीरे धीरे आगे पीछे करना शुरू किया अब दीदी का दर्द भी मजे मैं बदल गया था।

दीदी बोली और जोर से चोद बहनचोद छुट्टन लाल फाड़ दे आज मेरी चूत मेने अपने झटको की स्पीड बड़ा दी और दीदी को बहुत मज़ा आ रहा था। और दीदी के मुह से आह्ह आह्ह आह्ह की आवाजे आ रही थी। थोड़ी देर बाद मई दीदी की चूत मैं ही झड गया फिर मेने अपना लंड बाहर निकला तो दीदी की चूत से मेरे वीर्य के साथ साथ खून भी टपक रहा ये । ये खून सील टूटने का खून नही था बल्की चूत फटने का खून था अन फिर मेने दीदी की चूत को साफ़ कर की 2 राउंड और मारे। दीदी भी 3 बार झड गयी थी। उस रातहमने सेक्स का पूरा मज़ा लिया और आज भी लेते है कभी कभी मैं और मेरा दोस्त अपनी बहनों को बदल कर भी चुदाई करते है। और अपने सेक्स लाइफ का पूरा मज़ा लेते है। इसी के साथ हमारी कहानी समाप्त होती है। थैंक्स।

दीदी को प्रेगनेंट किया part – 1

(Visited 224 times, 4 visits today)