चाची की अन्तर्वासना part – 1। chachi ki antervasna by feel।

helloooo दोस्तों
मेरा नाम गोपाल है मैं एक सॉफ्टवेर इंजिनियर हु। आज मैं आप को anterwassna feel के माध्यम से अपने जीवन की सच्ची घटना सुनाने जा रहा हु। मैं आप को बताऊंगा की किस तरहा मेने अपनी माँ समान चाची की चुदाई की। मैं उम्मीद करता हु की आप को मेरी ये कहानी जरुर पसंद आएँगी।
मैं जयपुर मैं रहता हु और मेरी इंजीनियरिंग पूरी हो गयी है बस अब एक साल मैं मेरा प्लेसमेंट भी हो जाएगा । फिर एक लडकी से मेरी शादी हो जायेंगी और मैं उस की दिन रात चुदाई करूंगा। अब मैं घर पर पड़ा रहता था और कॉलेज की
लडकियो को याद कर कर के मुठ मरता रहता था। जेसे जेसे मेरे दिन गुजर रहे थे मेरी चुदाई की हवस बडती जा रही थी।
एक दिन मेरे को पता चला की मेरे चाचा का ट्रांसफर जयपुर हो गया है और वो रहने के लिए जयपुर आ रहे है।फिर कुछ घंटो बाद चाचा और चाची घर आ गये उन की शादी को 7 महीने हो गये थे। हम ने उन को एक अलग कमरा दे दिया। चाची का फिगर देखने लायक था उन के बोबे और गांड बिलकुल फिट और शेप मैं थे। but मेने सोचा की चाची के बारे मैं गलत नही सोचते।
एक दिन चाची मेरे कमरे मैं आयी और मेरे साथ टीवी देखने लग गयी। हम टीवी देखते देखते बात भी कर रहे थे। बीच बीच मैं मेने महसूस किया की चाची मेरे लंड को देख रही है लकिन मेने ध्यान नही दिया। हम को रात के 12:39 बज गये और मेने देखा की चाची सो गयी है।।
मैं भी सो गया मेने एक कच्छा पहन रखा था और नीचे चड्डी नही थी। चाची ने एक सलवार सूट पहन रखा था जिस के बटन खुल्ले थे और चाची के मम्मे नजर आ रहे थे। मैं एक्साइट हो रहा था उन बोबो के निप्पल भी सूट से साफ़ साफ़ नजर आ रहे थे। लेकिन मैं दूसरी तरफ मुद के सो गया। सुबह जब में उठा तो मेरा लंड जोर से तन रहा था और कच्चे से बाहर निकल रहा था अब मेरा लंड है ही इतना बड़ा बहार तो निकलना ही था। मैं बाथरूम गया और मूत के वापस चाची के बगल मैं जाकर सो गया। थोड़ी देर बाद मेरे को अपने लंड पर कुछ हरकत महसूस हुई। मेने आँख खोली तो देखा की चाची मेरे लंड को अपने हाथ से सहला रही थी।

दोस्तों बाकी की कहानी अगले part मैं बताई जाएगी

चाची की अन्तर्वासना part – 2 । chachi ki antervasna by feel

चाची की अन्तर्वासना part – 3 । chachi ki antervasna by feel

(Visited 1 times, 1 visits today)