Meri Virgin girl friend ki chudai ki kahani

हेलो फ्रेंड मेरा हाँ रोीत है. मैं कानपुर का रहने बाला हू. ये मेरी पहली कहानी है मस्तकाानी.कॉम. मैं मस्त कहानी पे रोज आता हू और लेटेस्ट कहानियना जो की बड़ी ही सेक्सी होती है पढ़ता हू.

मैं अब आपको अपनी सेक्सी स्टोरी सुनहा हू. मेरे पड़ोस मैं लड़की रा थी ह जिससका नाम सिमरन है उसके फिगर की बात करुँग तो 30 36 38 ह जू की मैं उससे पूछा था. बात उन्न दीनो की है जब मैं स्कूल मे यानी टेंत मैं पढ़ था था और हम बहूत आचे फ्रेंड्स थे. हम रोज रोज शाम को स्यले चलाने जया करते थे और कभी कभी मैं बॅडमिंटन खेला करते थे थे धीरे धीरे मुझे सेक्स कहानी मस्तकाानी.कॉम पे पढ़ने की आदत हो गए और मेरा देखने का नज़रिया उस्स्को देखने का बदल गया. उसस्का फिगर. दोस्तों क्या बतौन इतना आछा था की कोई लड़के का देख क्र उसस्का लंड खड़ा हो जाए और फिर धीरे धीरे मेरा नसार उसस्के चूच और ज्ञड़ मैं जानने लगा. मैं आपना मान बना लिया था की सिमरन को आब कैसे भी छोड़ना है मुझे.

उसके बाद धीरे धीरे मौका देख के मैं उसस्के बूब च्छुनने लगा था था और उसस्के गंद मैं हाथ से टच करने लगा था. मैं उसस्के साथ बहुत क्लोज़ आने लगा और हम बहूत जल्द बेस्ट फ्रेंड बॅन गए. हम एक दूसरे के घ्र मैं आने जानने लगा और लंबी लंबी बात चिट करने लगे.

एक दिन जब मेरे गहर मैं आई तो यूयेसेस दिन कोई न्ही था तो मैने उससे कॉल क्र के घर बुलाया की जल्दी आओ मैं बातरूम मे गिर गया हू काफ़ी चोट लग गया है और घर मैं कोई नही है और वो आ गए. क्या बतौ यार यूयेसेस दिन उसका ड्रेस ब्लू पैंट और बलकक कलर का टाइट टॉप पहनी हुई थी उसस्का बूब का निपल पूरा दिख रा था और उसस्की गंद का शेप पूरा दिखाई दे रहा था.

मैं मॅन ही मॅन सोच रा था की आज तो मैं इससे ज़रूर छोड़ूँगा. मैं फर्श मे ही बैठा हुआ वो ज्लडी से घर मैं आए और देखी की मैं नीचे बैठा हू तो जाके बम ले के आए और मेरे पैर मैं लगाने लगी सच बतौन मुझे बहूत अच्छा लग रहा था जब वो मेरे पैर मैं बम लगा र्ही थी तब उसस्का तोड़ा तोड़ा चूच दिख रा था और मेरा लंड खड़ा हो रा था उसस्का ध्यान मेरे लंड के तरफ जेया चुका और और वो मुझे देखकर मुस्कुरा रही थी.

फिर मैने उसको कहा की प्लीज़ मुझे मेरे बेड तक ले जाओ और वो मेरे को अपने कंधे के सहारे मैं हाथ रख के लेके जेया र्ही थी बेड मैं जैसे ही उसने मुजेहे बेड मैं बैठया मैं सिमरन को आपने बगल मे बैठने को कहा और हम दोनो क्र बात करने लगा और धीरे धीरे आपना मूह उसस्के पास ले जेया रहा था जैसे ही मेरा होत उसस्के होत से तोड़ा सा टच हुआ तो वो आपना आँख बंद कर ली. मैं समझ गया की इशारा मिल गया है की टूट पदो आब. मैं आपना होत अब उसस्के होत से पूरा सता दिया और आपना जीब उसस्के मूऊ मैं डालने का खोसिश क्र रा था बुत वो आपना मूऊ न्ही खोल र्ही थी फिर मैं धीरे धीरे आपना एक हाथ उसस्के चूच मैं रखा और डब्बा ने लगा और फिर उससने आपना मूऊ खोल के मेरा जीब अंदर के ले चुस्स ने लगी ऐसे ही हमरे बीच 10 मीं तक फ्रेंच किस चला.फिर मैं उसस्का टॉप खोल के उसस्के चूच को चुस्स ने लगा और डब्बा ने लगा वू भोथ वो बहूत ही खुश होने लगीफिर मैं उसस्का ब्रा खोल दिया क्या बतौ दोस्तो उसस्का चूच देख के मेरे तो होश उडद गए एट्ना बड़ा चूच तो मैने आज तक कोई ब्लू फ्लिं मैं न्ही देखा हो.

फिर मैं उसस्के चूच से खेलने लगा उसस्के निपल को जाब्ने लगा करीब 20 मीं तक मैने उसस्का चूच चुस्स चुस्स के लाल क्र दिया और फिर वू बोली प्ल्ज़्ज़ रोहित ँझे छोड़ो आब बर्दष न्ही हू रा ह मैं बोला रुक जेया जानेमन आभी तो तेरे को जन्नत की शेर करवानी ह और फिर मैं उसस्का पंत खोल के उसस्का पनटी के अंदर हाथ डाला तो देखा की उसस्का पनटी पूरा गीला हो चुका था लग रहा था की वो दो बार झाड़ चुकी थी और फिर मैने आपना उंगली उसस्के छूट मे डाला जैसे ही मेरा उंगली अंदर गया वो उच्छल पड़ी और बोलने लगी की और ब्रदश न्ही हू रा ह प्ल्ज़्ज़ डाल देना आपना लंड मैं बिना क्च बोलो आपना फिंगर अंदर बाहर करने लगा वू उछालने लगी और आ आ आ की आवाज़ निकालने लगी मैं समाज गया था की आब इससे बर्दष न्ही हू रा ह बुत ँझे और ंसती क्रना था

उसके बाद मैं आपना उंगली बाहर निकल के उसस्के छूट क्र सामने आपना मूऊ ले जाके रख दिया और आपने मूऊ से गर्म हवा छ्चोड़ने ने लगा उसे वो पागल हू गए और मेरा सिर पकड़ के आपने छूट मैं सता दी मैं उसस्का छूट चाटने लगा और चुस्सने लगा कभी कभी

तो मैं सांत से दबा भी दे रा था ऐसा करीब 15 मीं चला और इश्स बीच मैं वू मेरे मूऊ मैं जार्ड चुकी थी और आब उससे रा न्ही जेया रा वू मेरा सिर आपने छूट से हटाए और ज्लडी से मेरा पैंट खोल के मेरे लंड को देखी और बोली की एट्ना बड़ा लंड मैं कैसे ब्रदश कृंगी मैं उसस्के किस क्र के बेड मैं लेता दिया और बोला जानेमन बस दो मीं का दर्द फिर जन्नत की शेर वू हासणे लगी और बोली रोहित डाल दे अंदर मैं आपना लंड उसस्की छूट के मैं रकड़ने लगा और छूट बहूत हॉट होने के कारण मेरा लंड एक ही जटके मैं पूरा अंदर वू दर्द से चिल्लाने लगी और उसस्के छूट से खुऊँ भी निकालने लगा ँझे क्च समाज मैं न्ही आ रा तो मैं जल्दी से अपना लंड बाहर निकल के उसके मु से आपना मूऊ सता के लीप लॉक क्र दिया और पाँच मीं बाद जब डेका की उसस्का पाईं का आवाज़ कम हो गया है.

तो फिर धीरे धीरे आपना लंड ऊएक्स छूट मैं घुसाने लगा इश्स बार भी उसको दर्द होने लगा लेकिन .तोड़ा कम और फिर मैं सिमरन को धीरे धीरे अंदर बाहर करने लगा उस्स्को मज़ा आने लगा और वू आपना ज्ञड़ उछाल उछाल के मेरा पूरे कमरे मे सिमरन के छूट की पच पच की आवाज़ आ रही थी की आवाज़ गूंजने लगाई मैं उससे ऐसे ही बीस मीं तक छोड़ा था रा और जैसे ही मेरा निकालने वाला था तो मैं पूछा खा निकालु और उठ कर बैठ गए और मेरा लंड आपने मूऊ मैं ले ली और मेरा सारा माल पी लिया

उसके बाद क्या बतौन मैं किस की और फिर गांद का च्छेद देखा पर लगा की अब कोई और आ जाएगा इश्स वजह से मैं उसको बोला की आज जेया मैं तुम्हे गांद दूसरे दिन मारूँगा. और यूयेसेस दिन वो चली गई.

(Visited 491 times, 3 visits today)