सेक्सी माँ और चुद्दकड़ बेटी की चुदाई। chuddkd maa beti ke chudai।

anterwassna feel के पाठको को मोहन का नमस्कार। मैं जयपुर का रहने वाला हु। और anterwassna feel के माध्यम से आज मैं आप को अपने जीवन की सच्ची घटना सुनाने जा रहा हु।की किस तरहा मेने माँ और बेटी को एक  साथ चोदा। माँ का नाम सरिता और बेटी का नाम पुष्पा है। और वो हम से उपर वाले फ्लोर पर रहते है।पुष्पा की मम्मी के गांड का साइज़ दो तरबूज के बराबर था वो जब चलती है तो मैं उस की गांड घंटो तक देख सकता हू।पुष्पा और मैं एक ही क्लास मैं पड़ते है। पुष्पा भी उस की माँ की तरहा होट है। पुष्पा जब चलती है तो मैं उस के उछलते हुए बोबो को देखता
रहता हु। मैं कभी कभी पुष्पा के घर चेला जाता हु और हम दोनों मिल के पड़ते है। मैं तो बस उस के बोबो को घूरता रहता हु। पुष्पा के पापा आर्मी मैं है तो वो घर से बाहेर रहते है। पता नही पुष्पा की मम्मी अपनी चूत की प्यास कसे शांत करती होगी। मैं जब भी पुष्पा के घर जाता तो आंटी को देख के मेरा लंड खड़ा हों जाता और फिर मैं पुष्पा के बाथरूम मैं जाकर मुट्ठी मारकर अपने लंड को शांत करता और फिर स्टडी करने बेठ जाते। एक दिन मैं पुष्पा और उस की मम्मी सोफे पर बेठ कर बाते कर रहे थे। तभी पंखे की हवा से पुष्पा की मम्मी की चुन्नी उड़ गयी और उपर से बोबे साफ़ साफ़ नज़र आ रहे थे। मैं बोबो को घूरे जा रह था। और पुष्पा की मम्मी की नज़र मेरे पर पद गयी और वो समझ गयी के ये क्या देख रह है। लेकिन उस ने एक सेक्सी मुस्कुराहट देकर अनदेखा कर दिया। अब मैरे भी होसले बुलंद हो गये थे। अगले दिन मैं फिर पुष्पा के घर गया। और गेट बजाया। पुष्पा के मम्मी ने गेट खोला। और पुष्पा की मम्मी को देखकर मेरा लंड चैन तोड़ने को तेयार हो गया। पुष्पा की मम्मी ने एक हलकी सी मैक्सी पहन रखी थी और उस मैं होके बोबे साफ़ साफ़ नज़र आ रहे थे। उस ने निचे ब्रा नही पहन राखी थे
और पिंक कलर की चड्डी भी साफ़ साफ़ नज़र आ रही थी। मने पूछा पुष्पा कहा है वो बोली पुष्पा बाज़ार गयी है थोड़ी देर मैं आ जायेंगी जब तक तू अंदर बेठ जा। मने बोला आंटी मैं बाथरूम जाकर आता हु। अब मैं बाथरूम मैं जा कर मुठ मरने लेग गया इतने मैं ही पुष्पा की मम्मी अंदर आ गयी। मेने जल्दी से अपने लैंड को अंदर डाल लिया और चुप चाप खड़ा हो गया मेरा खड़ा लंड पेंट मैं होके साफ़ साफ़ नज़र आ रह था। पुष्पा की मम्मी मेरे पास आयी वो मेरा सर पकड़ कर अपने बोबो मैं मसलने लग गयी और बोली चुदाई करनी है तो बोल ही देता मुठ क्यों मारता है मैं हु ना। मेरे तो मन मैं लड्डू फुट रहे थे। अब मने पुष्पा की मम्मी की मैक्सी खोल दी अब उस के बदन पर सिर्फ पिंक कलर की चड्डी और मोटे मोटे बोबे थे। अब वो बोली चल अब मेरी चड्डी भी खोल । मने उस की चड्डी भी खोल दी चूत थोड़ी काली थी लकिन एकदम क्लीन थी। अब पुष्पा की मम्मी बोली चल अब चूत चाट। उस ने मेरे से 15 मिनट तक चूत चटाई और मैं उस के बोबो को दबाता रहा। फिर पुष्पा की मम्मी ने मेरे को भी नंगा क्र दिया और मेरे लंड को चूसने लग गयी। उस ने10 मिनट तक मेरे लंड को लोली पॉप के जसे चूसा। फिर मेने पुष्पा की मम्मी को बेड पर लिटा दिया और उस की टांगो को फ़ेला कर उस की चूत को अंगुली से चोदने लग गया। अब मेने अपना लैंड आंटी की चूत पर रखा और चूत के उपर अपने लैंड को मसलने लगा तो आंटी बोली अब घुँसा भी दे और कितना इंतजार करवाएगा । अब मेने आंटी की चूत मैं लंड घुसा दिया और चोदने लग गया । मने आंटी को बहुत स्पीड से चोदा आंटी भी आह्ह आअह्ह्ह कर के चुदाई का मज़ा ले रही थी हम दोनों को बहुत मज़ा आ रहा था की तभी पुष्पा आ गयी और हम दोनों को देख लिया। अब पुष्पा बोली मैं पापा को बताउंगी। आंटी ने पुष्पा से कहा देख तू जो बोलेगी मैं वो ही करूंगी बस तेरे पापा को मत बताना। पुष्पा बोली मेरे को भी चुदाई का मज़ा लेना है। अब पुष्पा भी नंगी हो गयी और मेरे को बेड पर सीधा लिटा दिया । और मेरे लंड पर बेठ के उछल उछल के खुद ही चुदने लग गयी। पुष्पा की माँ बोली पुष्पा तेरे तो खून ही नही आया अब से पहले कितनी बार कर चुकी। पुष्पा बोली मेने कई बार चुदाई का मज़ा लिया है शयद आप से भी ज्यादा। बीएस फिर उस दिन मने दोनों माँ बेटियों की खूब चुदाई की। अब हूँ तीनो सप्ताह मैं 3 या 4 बार सेक्स करते है।
summery – maa beti ki ek saath chudai.
maa ko peta leg gya ke us ke beti ke seal tut chuki hai.
puspa ke maa ke chudai
maa bete ke chudai.    
(Visited 2 times, 1 visits today)