मामी के सेक्सी बूब्स

पहले तो मेरी मामी से मेरी ज्यादा बात नहीं होती थी. पर फिर मेने उनसे थोडा थोडा करीबी बढ़ाना सुरु किया. वो रोज सवेरे मंदिर जाती हे. और में उसी समय में अपने घर बहार आके खड़ा हो जाता था और मेरी नजरे तो हमेशा उनके बूब्स और उनके फिगर पे रहती थी. ये लगभग १८ से २० दिन तक चला.

वो रोज मुझे देख कर मुस्कुराती थी में बता नहीं सकती के की वो मुस्कुराती हुई कितनी सुन्दर लगती हे. फिर में एक दिन सवेरे अपनी बाइक ले कर कोचिंग के लिए जा रहा था. तभी मुझे मामी मंदिर जाती हुई दिख गई. मेने मन में सोचा मौका अच्छा हे. मामी से बात करने का फिर फिर में मामी के पास गया और पूछा मामी कहा जा रही हो तो वो बोली में मंदिर जा रही हूँ.

तो में बोला की में भी कोचिंग जा रहा हूँ. और मंदिर रास्ते में ही पड़ेगा तो चलो आप को छोड़ दू मामी ने हां कर दी. दोस्तों मेरे लिए तो जन्नत मेरे साथ हो फिर उन्को पिछे बिठाया. और में आपको बताऊ दोस्तों जब वो बेठी तो उनकी गांड मेरे से टच ही रही थी. और इतनी स्मूथ थी उनकी की में क्या बताऊ. मेरा तो खड़ा होने लगा था में उस दिन कोचिंग में कंसन्ट्रेट ही नहीं कर पा रहा था.

फिर में कोचिंग से घर आके जल्दी घर आके मुठ मारा फिर अगले दिन में फिर अपने घर के बहार खड़ा था तभी मामी निकली और में उनके बूब्स को देखता ही रहा और वो मुझे देख के जोर से हसी और चली गयी. मेने जल्दी से उनके बूब्स से नजर हटाली और में उनको स्माइल दे के अन्दर चला गया. उसी दिन शाम को मामी मुझे मिली और बोली की आज तुम्हारे मामा घर पे नहीं हे तुम रात को मेरे घर पर सो जाना.

दोस्रो मेरे मन में तो लड्डू फूटने लगे. फिर मेने मामी से कहा की आप मेरी मम्मी से बोल दो मामी मम्मी के पास गई और और मम्मी ने भी हां कर दी. मुझे तो अब बस रात का ही इन्तेजार था. में ठीक ९ बजे अपने घर से खाना खाके उनके घर चला गया. उन्होंने नाइटी पहनी हुई थी और क्या बताऊ की केसा कहर ध रही थी वो इस नाइटी में. फिर मामी ने मुझसे पूछा की में खाना खा के आया हूँ की नहीं मेने कहा की मेने खाना खा लिया हे मामी ने कहा चल ठीक हे.

में खाना खा लेटी हूँ. फिर वो खाना खाने बेठ गई. और में टीवी देखने लगा.अरे टीवी क्या वो तो उनके साथ बेठने का एक बहाना था. फिर वो बोली की तुमने मुझे पूछा नहीं की में सवेरे क्यू हस रही थी. में समज गया था की मामी मुझे पसंद करने लगी हे. मेने कहा हां मामी बताओ की क्यों हस रही थी. तो वो बोली की पहले तुम बताओ की सवेरे तुम मुझे घुर क्यू रहे थे. मेने कहा की नहीं मामी में कहा घुर रहा था तो वो बोली की जूठ मत बोलो.

मुझे सब पता हे की तुम क्या देख रहे थे. तो मेने कहा की बताइये की में क्या देख रहा था तो वो बोली नहीं में तुम्हारे मुह से सुनना चाहती हूँ. चिंता मत करो में बुरा नहीं मानूंगी. मेने कहा हां मामी मेरा ध्यान आप के बूब्स पे था. तो वो फिर हसी और बोली तुम्हे शरम आणि चाहिए की की में तुम्हारी मामी हूँ. तो मेने कहा की मामी तुम्हारी गलती नहीं हे. ये आँख अपने आप चली जाती हे. तो वो बोली संभल के रख्खा करो अपनी आँख को मामी ने कहा.

वो अपना खाना ख़तम करके रसोई में चली गई में समज रहा था की मामी भी मेरी तरफ आगे बढ़ने लगी थी फिर में भी रसोई में पानी लेने के बहाने से गया मामी बर्तन साफ कर रही थी पीछे से क्या सेक्सी लग रही थी. दोस्तों उसका ब्रा बिलकुल फिटिंग के साथ जलक रहा रहा. फिर मेने धीरे से उनकी गांड में हाथ चूले की आगे बढ़ गया.

उन्होंने हस के मेरी तरफ देखा और नोली अब तुम बोलोगे की हाथ भी अपने आप चला गया मेने कहा हां मामी अपने आप चला गया फिर वो बोली की बहार वाले कमरे में तुम्हारा बिस्तर बिछा दिया हे तुम वह जा के सो जाओ तो मेने कहा की मुझे तो अकेले डर लगता हे इस लिए में अकेले नहीं सोऊंगा वो बोली की ठीक हे तुम कमरे में अपने मामा की जगह जा के सो जा. में सोने चला गया मेने वह जाके जल्दी से हाथ ठेला चलाया मतलब मुठ मारा मेरी तो दोस्तों जिसे १० करोर की लाटरी लग गई हो. फिर आधे घंटे के बाद मामी सोने आ गयी.

उनका हाथ मेरे हाथ से टच हो रहा था. मेने धीरे से उनका हाथ पकड़ लिया. उन्होंने मुझे थोड़े से धक्का दे के हाथ छुड़ा लिया. और बोली की तुम बहोत बदमास हो गई हो. फिर मेने हिम्मत करके मामी से बोला की मामी आप ने मुझे मामा की जगह सोने दिया हे तो मामा को रात में मिलने वाले बेनिफिट्स भी मुझे एन्जॉय करने दो.

मामी कुछ नहीं बोली फिर में धीरे से मामी के करीब खिसक के आने लगा. और उनके हाथ को अपने हाथ को अपने हाथ में ले लिया उन्होंने कुछ नहीं कहा तो मेरी तो लाटरी लग गई थी. दोस्तों उस दिन मेने मामी को अपनी तरफ खीचा और और उनके लिप्स से अपने लिप्स मिला दिया हम लोगो की लिप किस लग भग १० मीनट तक चली क्या स्मूथ लिप्स हे यार उनके फिर मेने उनकी गर्दन में चूमना सुरु किया में उनकी गर्दन से निचे उतरने लगा और उनके बूब्स दबाते हुए उनके पेरो तक चला गया. क्या बताऊ दोस्तों क्या सॉफ्ट बूब्स थे बिलकुल मखमल की तरह वो मेरे से बोली आज मेंने तुजे तेरे मामा की जगह दे रही हूँ.

देखते हे तुम जगह का सही इस्तेमाल करते हे की नही. मेने कहा मामी में आपको बिलकुल निरास नहीं करूँगा. और जब भी में मोलूँगा आप मुझे खुस करेगी ना वो बोली सोचूंगी फिर हमारी रोमांस सुरु हुई मेने उनकी नाईटी बीचे से उनकी चूत तक चुमते हुए आ गया उन्होंने रेस कलर की पेंटी पहनी हुई थी. जेसे के वो उन्होंने मेरे लिए ही खरीदी हो में उनको चुमते हुए नाईटी उठाते हुए उनकी नाईटी उतार दी उन्होंने बिलकुल पेंटी की मेचिंग का रेड कलर का न्यू ब्रा पहना था दोस्तों मुझे तो विस्वास नहीं हो रहा था.

की मेरी मामी जिन्हें में सपनों में चोदता था वो आज मेरे से सच मच चोदने को तैयार थी और वो मेरे सामने ब्रा पेंटी में लेटी हुई थी फिर हमारी समुच सुरु हुई. वो भी काफी लम्बी चली फिर मामी मुझे लिटा के मेरे ऊपर आ गयी. और मेरा १-१ अंग चूमने लगी उन्होंने मेरी त शर्ट उतारदी और केप्री उतारदी और मेरी अन्दर्वेअर उतार के मेरा लंड चूसने लगी मेरा लंड भी उनकी लाल ब्रा और पेंटी देख के पागल सांड जेसा हो गया था वो मेरा लंड लग भग १५ मिनट तक चुस्ती रही मेरी तो जन निकल रही थी मेने कहा बस मामी.

वो बोली तुम्हारे मामा का बहोत छोटा हे, वो मेरे पूरा अन्दर तक भी नहीं जाता. पहली बार इतना बड़ा लंड देखके में अपने आप पर काबू नहीं रख पा रही हूँ. मेने जेसे तेसे करके उनको हटाया और लिटा के फिर उनको फिर से चूमना सुरु कर दिया उन्होंने मेरा मुह पकड़ के अपना बूब्स में घुसेड दिया फिर मेने उनको फेला के उनकी ब्रा का हुक खोला और पूरी पीठ में चूमाँ फिर सीधा लिटा के उनका ब्रा उतर दिया दोस्तों में क्या बताऊ क्या बूब्स थे यार बिलकुल पिंक कलर के थे फिर मेने उनके बूब्स चुसे और उनके बूब्स बहोत दबाए.

मेने उनके निपल दबाना सुरु कर दिया उनको बहोत सेक्स चढ़ चूका था. और शायद वो १-२ बार झड भी चुकी थी. क्यू की उनकी पेंटी गीली थी. फिर मेने उनकी पेंटी उतार दी और उबकी चूत बिलकुल क्लीन सेव रखी हुई थी उसमे मुझे एक भी बाल नजर नहीं आ रहा था..

फिर मेने उनकी चूत को नेपकिन से पूछा और चाटना सुरु कर दिया उनके मुह से आह आह की आवाज़े आने लगी थी. में समज गया मामी को मजा आ रहा हे. में उनकी चूत को और जोर से चाटने लगा वो मेरे बाल पकड़ के नोच रही थी. वो मेरा सर अपनी चूत में घुसेड ने का कर रही थी. मेने १० मिनट तक उनकी चूत चाटी और फिर में उनके बदन को चुमते हुए उनको लिप किस करने लगा. फिर मेने अपने कांड को पकड़ के उनके दोनों बूब्स के बिच में रख के उनसे रगड़वाना सुरु कर दिया. १ बार तो मेरा मुठ वही गिर गया. फिर मेने मामी को नेपकिन से पूछा और उनके उपर चढ़ गया और उनकी चूत में अपना लंड डालने लगा तो मामी की बहोत जोर से चीख निकल गई. आज जेसे मामा उनकी पूरी सिल ही ना खोल पाए हो.

और उनकी चूत से थोडा थोडा खून भी नक़ल रहा था. में मामी को चोदना सुरु कर चूका था. ये अन्दर बहार का सिलसिला काफी देर तक चला मामी की आह उह की आवाज़े मुझे और भी ज्यादा मजा दे रही थी. फिर थोड़ी देर बाद मेने मामी के भोसड़े के अन्दर ही झड दिया मामी बोली तुम्हे एसा नहीं करना चाहिए था. बहार झाड़ना था तो में बोला मामी इतना मज़ा आ रहा था की मुझसे रुका ही नही जा रहा था मामी फिर हसने लगी हम लोगो ने पूरी रात चोदाई की और में ५-६ बार झड चूका था. में अपने आप में बहोत कमजोरी महसूस करने लगा था इन सब में सवेरे के ५ बज गए थे फिर हम लोग थोड़ी देर के लिए सो गए. में तो मामी के उपर ही सो गया था.

और फिर मेने मामी से कहा हमेशा एन्जॉय करने डौगी ना. तो मामी बोली तेरा ही घर हे में भी तेरी हूँ. जब जी चाहे तब आ जाना. में खुस हो के अपने घर चला गया. थोड़े दिन बाद पता चला की मामी प्रेगनंट हो गयी हे तो में जल्दी से मामी के पास गया और पूछा मामी के पास पॉवर आ गयी क्या तो मामी बोली पगले ये तेरे पॉवर का असर ही तो हे तो एसे रही मेरी मामी के साथ चोदाई मेने मामी को ९ महीने बाद मेरी चोदै से एक बेटी पैदा हुई. अब हम जब भी चाहते हे खूब मन लगाके चुदाई करते हे. मुझे तो लगता हे की एसे ही चलता रहे तो मामी को १ बार और प्रेगनंट करने में कामयाब हो जाऊँगा.

(Visited 4 times, 1 visits today)