स्वाति की फुद्दी की खुशबू और स्वाद । स्वाति की फुद्दी की सील तोड़ी।

हेलो दोस्तों मेरा नाम सोहन है। मैं इंजीनियरिंग कॉलेज मैं पड़ाता हु। मेरी हाईट थोड़ी कम है 5.5। लकिन मेरे लंड की लम्बाई बहुत है। मेरा लंड 6 इंच लम्बा है लकिन गोलाई मैं इक पतली गाजर जेसा है। लडकियो को मेरा लंड चूसने मैं बड़ा मज़ा आता है। हमारे कॉलेज मैं बहुत सी लडकिया है उन मैं से सब से हॉट और सेक्सी लड़की का नाम स्वाति है। उस के बोबे संतरे के आकर के थे। और बिलकुल टाइट थे। अगेर वो ब्रा ना पहने तो भी उस के बोबे शेप मैं रहते है। उस की गांड भी बहुत टाइट है और उस की चूत का शेप उस के पेंट मैं होकर दीखता रहता है। उस को याद कर कर के मने 100 से भी ज्यादा बार मुठ मारी है। बीएस मैं उस को एक बार चोदना
चाहता था केसे भी कर के। अब मैं स्वाति से सेटिंग करने की कोशिस करने लग गया। मैं और स्वाति बहुत फ्रैंक हो गये थे मेरा काम बनने ही वाला था की स्वाति की किसी और से सेटिंग हो गयी। अब मैं रह गया टीचर और वो लड़का था स्मार्ट। तो मेरा तो पत्ता कट हो गया। लकिन मेरे को किसी भी तरहा स्वाति को चोदना था। मैं केमिस्ट्री लैब मैं गया और वहा से बेहोशी की दवा चुरा ली। फिर उस लडके के नाम से मेने स्वाति के बैग मैं लैटर डाल दिया । उस मैं लिखा था की लंच के बाद उपर वाले स्टोर रूम मैं आ जाना। तो लंच के बाद वो स्टोर रूम मैं पहुच गयी। स्टोर रूम मैं कोई नही आता था। मने उसे बेहोशी की दवा सुंघा के बेहोश कर दिया। अब वो बेहोश हो गयी और मने उसे जमीन पर लिटा दिया और उस के बोबो पर धीरे धीरे हाथ फेरने लग गया । फिर उसे किस किया। अब उस की शर्ट के अंदर हाथ देकर उस की चुचियो को मसलने लग गया। अब मने उस की शर्ट उतार दी और अब स्वाति उपर से नंगी हो गयी थी। उस के बोबे एक दम तने हुए थे और उस के निप्पल लाइट पिंक कलर के थे। मैं उन को काफी देर तक दबाता रहा और चूसता रहा। फिर मने स्वाति की पेंट खोल दी । अब वो सिर्फ पिंक कलर की चड्डी मैं थी। उस की जांघे चमक रही थी। मैं उस की जांघो को चाटने लग गया । चाटते चाटते मैं उस की फुद्दी के पास पहुच गया। उस की चूत मैं से कुछ अजीब से महक आ रही थी और वो महक मेरे को पागल कर रही थी। अब मैंने उस की चड्डी खोल कर स्वाति को पूरी नंगी कर दया। उस की चूत बिलकुल पिंक थी। और चिकना चिकना पानी छोड़ रही थी। मैं वासना मैं इतना डूब गया की उस की चूत को जोर जोर से सूंघने लेग गया और उस की चूत और गांड के छेद को चाटने लग गया। अब मेरा लैंड भी पानी छोड़ रहां था। मने स्वाति की टांगे चोडी की और उस की चूत मैं लंड लगा के घुसाने लग गया मेरा लंड बिच मैं से मुड गया। स्वाति की चूत मैं घुसा ही नही। फिर मेने बहुत सार थूक उस की चूत मैं डाला और अपने लंड को मुठी मैं पकड़ के घुसाने लग गया। अब मेरा लंड उस की चूत मैं थोडा सा चला गया। मेरे को कुछ अजीब सा लगा । जब मने लंड बाहर निकला तो स्वाति की चूत से खून आ गये। वो अभी तक सील पैक थी। लकिन अब स्वाति की चूत का भोसड़ा बन चूका था। फिर मैंने स्वाति को खूब चोदा और विर्या उस की चूत मैं छोड़ दिया। फिर अपने लंड को स्वाति के मुह मैं डाल कर साफ़ किया और क्लास मैं आ के लेक्चर देने लेग गया। अगले कई दिनों तक स्वाति कॉलेज नही आयीं। फिर कई दिनों बाद वो कॉलेज आई और क्लास मैं चुपचाप बेठी रही। वो समझती है की उस लड़के ने उसे चोदा है। और उस से ब्रेकअप कर लिया। आज  भी मेरे को स्वाति की चूत का स्वाद और खुशबू याद है। to ye hamara real teacher student sex ho gya.summery- virgin girl sex story with teacher in Hindi. seating kind seal  Sohan sir ne todi. thanks
न्यू updates के लिए बुकमार्क कर ले। thanks।
(Visited 16 times, 1 visits today)