भाभी की अन्तर्वासना। bhabhi ki antervasna। feel

मेरा नाम राहुल है। मैं 19 साल का हु और मुठ मार मार के काम चलता हू। मेरे अंदर की antervasna इतनी बड गयी है की अगर मेरे को कुतिया मिल जाए तो मैं कुत्ती को ही चोद दू। लकिन इंसान हु इसलिए मुठ मार मार के काम चला रहा हु। लकिन अब मेरी चुदाई की इच्छा पूरी हो गयी है और भाभी ने मेरी चुदाई की आग को शांत किया। अब जानिये केसे।
मैं और मेरा परिवार जयपुर मैं रहते है। मेरा एक बड़ा भाई है जो अपनी पत्नी के साथ दिल्ली रहता है। उन की नई नई शादी हुई है और वो दिल्ली शिफ्ट हो गये। एक बार नवरात्रा स्थापना हो रही थी तब भाभी और भेया जयपुर आ गये। जब भाभी गयी थी तो एक दम कटे की तरहा थी और बोबे भी छोटे छोटे थे लकिन अब वो पूरी बदल गयी थी। बोबो फुल के मोटे हो गये
और गांड तो इतनी फुल गयी की जब भाभी चलती है तो पूरी साडी गांड के उपर चढ़ जाती है। जिस भाभी को देख के मेरा लंड भी खड़ा नही होता था आज उस भाभी को देख के मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया। बस अब तो एक ही तमन्ना थी की केसे भी कर के भाभी की चुदाई हो जाएँ। अब भाभी के साथ मजाक तो कर ही सकते है तो अब हम काफी फ्रैंक हो गये। एक दिन भाभी ने साडी पहन रखी थी। तो ब्लाउज का उपर का बटन खुल्ला था। मने कहा भाभी बटन बंद क्र लो आप का सामान दिख रहा है। भाभी  बोली तू ही कर दे ना। अब मैं भाभी के ब्लाउज के बटन बंद करने के बहाने अपनी उंगली से भाभी के बोबो को दबाने लेग गया। फिर थोड़ी देर बाद भाभी बोली तेरे से नही हो रहा तो मैं ही कर लू। मैं बोल भाभी बस थोड़ी देर और
भाभी- ये इतने ही अच्छे लग रहे है तो तू भी शादी कर ले ना
मैं- आप के होते हुए शादी की क्या जरूरत है भाभी
फिर भाभी ने अपने बटन बंद कर लिया और रसोई मैं चली गयी।
फिर एक दिन मैं बाथरूम मैं मूत रहा था तो अचानक भाभी ने गेट खोल दिया और मेरे लैंड के दर्शन कर लिए। मने अपने लंड को हाथ से छुपा लिया। फिर भाभी ने हस्ते हुए गेट बंद कर दिया। जब मैं मूत के बाहर आया तो भाभी बोली तेरी गाजर तेरे भाई से तो बड़ी है।
मैं- अच्छा तो मेरा गाजर भी टेस्ट कर लो ना
भाभी मेरा लंड देख के उत्तेजित हो गयी थी।
एक दिन घर पर कोई नही था सब मंदिर गये हुए थे। और मैं छत पर बेठा पड़ रहा था। भाभी मंदिर से जल्दी आ गयी और उपर मेरे पास आ के बेठ गयी और बोली देवर राजा क्या कर रहे हो।
भाभी के ब्लाउज के बटन खुल्ले थे और बोबो के बीच की खाई साफ़ साफ़ नजर आ रही थी। मने अपना पेन बोबो के बिच मैं लगा दिया और बोल सेक्स के सपने देख रहा हु। भाभी बोली सपने ही देखता रहेगा या कुछ करना भी है।
मैं – बोला करना तो सब कुछ है पर कोई करवाए जब ना।
भाभी – चेल आज तेरी ये इच्छा मैं पूरी कर देती हु अब निचे आ जा।
भाभी निचे चली गयी और मैं भी पीछे पीछे निचे चला गया।
फिर हम बेडरूम मैं आ गये। भाभी ने अपना साडी का पल्लू निचे गिरा दिया अब भाभी के मोटे मोटे बोबे तने हुए दिख रहे थे मैं उन को अपने हाथो से धीरे धीरे दबाने लग गया। भाभी बोली थोडा जोर से दबा ना हाथो मैं दम नही है क्या। मने बहुत जोर से बोबे दबा दिए तो भाभी चिल्लाई। आऐईईईइ थोडा मीडियम दबा इन को फोड़े गा क्या। अन मैं भाभी के बोबे दबा रहा था।
फिर भाभी नि अपना ब्लाउज खोल दिया और मेरे को बोबे चूसने लग गयी। अब मैं भाभी के बोबो को चूस रहा था और भाभी की चूत मैं अंगुली डाल रहा था। भाभी भी अपने हाथ से मेरा लंड सहला रही थी।फिर हम दोनों पुरे नंगे हो गये। भाभी की चूत पर हल्की हलकी झाट थी और वो बाल भाभी की चूत पर जच रहे थे। भाभी की चूत मोटी थी लगभग हथेली से भी ज्यादा मोटी। लकिन भाभी का छेद बहुत छोटा था जेसे किसी ने भाभी को चोदा ही नही।
मने कहा भाभी आप ने भी अभी तक चुदाई का मज़ा नही लिया क्या।
भाभी – लिया तो है लकिन तेरे भाई की गाजर बहुत छोटी है। और ज्यादा देर तक चलती भी नही है। चुदाई के बाद मैं अंगुली से अपनी वासना कोण शांत करती हु।
मैंने अब भाभी को पलंग पर लिटा दिया और अपने लंड को भाभी की चूत पर लेगा के बाहर  ही मसलने लगा भाभी बोली अब घुसा भी दो मेरे राजा।
मने भाभी की चूत मैं अपना लंड पूरा डाल दिया। मोटा लंड भाभी की चूत मैं पहली बार गया था तो भाभी दर्द से चिल्ला गयी ऐईईईईईई अहैईईईई हॆईईईई आज तो फट गयी। भाभी का दर्द देख मैं बोला क्या हुआ भाभी दर्द हो रहा है तो निकल लू। भाभी बोली नही रे पागल मज़ा आ रहा है अब जोर जोर से झटके दे आज फाड़ दे मेरी चूत। अब मैं जोर जोर से भाभी को चोदने लग गया। भाभी को बहुत मज़ा आ रहां था। वो अह्ह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ की आवाजे निकल रही थी फिर भाभी और मैं दोनों झड गये। हम फिर चुदाई करने लग गये और एक दुसरे को किस भी कर रहे थे। आज भाभी को भी लंड का असली मज़ा आ गया अब भाभी यही जयपुर मैं रहती है और हम हर 2- 3 दिन मैं खूब चुदाई करते है।

summery – bhabhi ki chudai. bhabhi ki chut ka maza. bhabhi ke antervasna. bhabhi ke chikni chut ka maza.bhabhi devr ka pyar. bhabhi maa nhi ptni smaan hoti hai.

(Visited 3 times, 1 visits today)