आंटी की चूत का तोहफा – [भाग – 2]

आंटी की चुदाई की कहानी अब आगे पढ़े….. विकी की जबान आंटी की चूत के दाने पर थी, जैसे ही वो उसे टच करता था आंटी को पुरे बदन में जैसे की करंट लगता था. वो मचल जाती थी और जितेन्द्र के लौड़े को और भी सेक्सी तरीके से चूसने लगती थी. जीतेन्द्र के तो होश ही उड़े हुए थे बेचारे के, पहली बार इतनी अच्छी तरह से उसका लंड कोई चूस जो रहा था. विकी ने अब अपनी एक ऊँगली आंटी की चूत में डाला और वो ऊँगली से ही आंटी की चुदाई करने लगा. आंटी सिसकियाँ ले रही थी और विकी ने अब एक की जगह दो उँगलियाँ उसकी चूत में पेल दी.

जीतेन्द्र से सुख का सामना लम्बे समय तक नहीं हुआ. बेचारे का सारा वीर्य एक ही झटके में आंटी के मुहं में निकल पड़ा. आंटी प्रोफेशनल पोर्नस्टार के जैसे वो वीर्य को अपने होंठो पर घुमा रही थी. और फिर एक ही घूंट में आंटी ने वीर्य पी लिया.

जीतेन्द्र का लंड सिकुड़ने वाला ही था अब तो. वो विकी को देख रहा था आंटी की चुदाई ऊँगली से करते हुए और उसका भी मन हुआ ऐसा कुछ करने को. विकी भी समझ गया. उसने खड़े हो के आंटी की चूत का चार्ज जितेन्द्र को दिया और खुद अपना लंड आंटी को चुसाने लगा. आंटी ने विकी का मोटा लंड पूरा मुह में भर लिया और उसे जबान से सक करने लगी.

एक मिनिट लंड चुसाने के बाद विकी ने आंटी के मुह से लंड को निकाला. जितेन्द्र देखता ही रह गया जब विकी ने आंटी को कस के एक तमाचा लगा दिया. जितेन्द्र उसे सिरियस ही समझता अगर विकी बोला नहीं होता.

बेन्चोद रंडी, चूस मेरा लौड़ा और जोर जोर से मादरचोद.

विकी ने ऐसा कहा और आंटी हंस के लंड को किस करने लगी. जितेन्द्र समझ गया की आंटी को दर्द वाला प्यार और सेक्स पसंद हैं शायद. विकी ने अब आंटी के बाल अपने हाथ में पकडे और उन्हें खींचते हुए वो आंटी के मुह में अपना लौड़ा अंदर बहार करने लगा. आंटी के मुह से चस चस चस की आवाज आ रही थी जब वो मोटा लंड उसके अंदर बहार हो रहा था. विकी का लंड चुस्ती हुई आंटी को देख के जीतेन्द्र का फिर से खड़ा हो गया. वो अभी भी अपनी दो ऊँगली से आंटी की चुदाई तो कर ही रहा था.

विकी ने और दो मिनिट में आंटी को ४ तमाचे लगाए और फिर अपने लंड को उसके मुह से निकाल दिया. जीतेन्द्र भी अब तैयार था फिर से खड़ा हुआ लौड़ा ले के. आंटी ने अपनी टाँगे फैला दी लेकिन विकी बोला,

जीतेन्द्र तू निचे लेट जा. आंटी आप उसका लंड ले के ऊपर आ जाओ. मैं पीछे से आप की गांड मारूंगा.

विकी का इरादा आंटी को सेंडविच बना के उसकी गांड पेलने का था. वैसे आंटी को भी गांड मरवाने में कोई अरुचि नहीं थी. जीतेन्द्र निचे लौड़ा खड़ा कर के लेट गया. आंटी ने उसके लंड को अपने हाथ में लिया और फिर वो चूत को उसके लौड़े के सर पर रख के बैठ गई. आंटी की ढीली चूत में जीतेन्द्र का लंड फच से घुस गया. विकी पीछे खड़ा हुआ अपने लौड़े को हाथ में झुला रहा था. जीतेन्द्र का लंड अब आंटी की चूत में पूरा घुस चूका था. आंटी को धक्का de के विकी ने आगे की और झुकाया. मौका देख के जीतेन्द्र ने चुंचे चुसना चालू कर दिया. इधर विकी ने अपना लंड आंटी की गांड पर सेट कर दिया था अब. आंटी ने पीछे हाथ कर के लंड को हाथ में पकड़ा और वो उसे गांड के छेद में घुसाने में विकी की मदद करने लगी. विकी ने अपने दोनों हाथ से आंटी के कुल्हें खोले और लौड़ा अंदर मारा. आह की सिसकी से आंटी ने साफ़ किया की लंड घुस गया था गांड में. आंटी ने अपना हाथ हटा लिया और विकी गांड के अंदर धक्के लगाने लगा. आंटी के मुहं से आह आह की आवाज आ रही थी. अब वो उपर हुई, जितेन्द्र के मुहं से अपनी निपल निकालते हुए.

अब दोनों ही लड़के जोर जोर से अपना लौड़ा आंटी के छेद में हिला रहे थे. आंटी भी उछल उछल के अपने छेद भरवा रही थी. आंटी की गांड के ऊपर विकी पीछे से ठप्पे लगाता ही जा रहा था. आंटी की चुदाई करते करते उसने उसकी गांड को पूरा लाल कर के रख दिया था.

पांच मिनिट गांड मारने के बाद विकी का निकल गया और उसने अपना लंड गांड से निकाल लिया. लेकिन जीतेन्द्र अभी भी लगा हुआ था. क्यूंकि उसका एक बार पहले निकल चूका था इसलिए अब वीर्य इतनी जल्दी निकलनेवाला नहीं था. आंटी उसके ऊपर जोर जोर से जम्प लगा रही थी औ वो भी निचे से कस के आंटी की चुदाई कर रहा था. दोनों का ही बदन पसीने से लथपथ हुआ नजर आ रहा था और आंटी की साँसे भी तेज हो चुकी थी. वो पूरा ऊपर होके लंड का सिर्फ सुपाड़ा चूत में रहने देती थी और फिर वापस बैठ के लंड पुरा अपनी चूत में ले लेती थी.

जीतेन्द्र के झटके अब तेज हुए. वो आंटी की चुंचियां पकड के उसे चोद रहा था. आंटी के मुहं से भी आह आह ओह ओह की आवाज आ रही थी. पांच मिनिट के भीतर जितेन्द्र भी निढाल हो गया. तीनो लेटे रहे पांच मिनिट तक. फिर आंटी ने उठ के अपने कपडे पहने और सब के लिए कोफ़ी बनाने गई.

आंटी जैसे ही कमरे से गई विकी ने जीतेन्द्र को इशारे से पूछा कैसा माल हैं.

जीतेन्द्र हंस पड़ा और उसने अपने बटवे से १००० रूपये निकाल के विकी को de दिए. आंटी की चुदाई का सेटिंग करवाने के लिए विकी ने यह पैसे उस से मांगे थे….!

(Visited 1 times, 1 visits today)