सोनिया की गंदी चुदाई गोआ में

हैल्लो दोस्तों, में सोनिया एक बार फिर से हाज़िर हूँ आपके बड़े लंड को अपने तीनों छेद में लेने के लिए. दोस्तों में उम्मीद करती हूँ कि मेरी पिछली कहानी आपको बहुत पसंद आई होगी. अब यह कहानी गोआ में मेरी आख़िरी चुदाई है तो दोस्तों अब शुरू करती हूँ.

दोस्तों अब हम एक जून 2015 को दोपहर में उठे तो मैंने देखा कि सुरेश को छोड़कर सब लोग नंगे पड़े हुए है तो में राज के पास जाकर उसे किस करने लगी और एक हाथ से उसके लंड को सहला रही थी और तभी अचानक वो उठा और उसने कहा कि अब कितना चुदेगी, कितनी चुदने की ताकत है तेरे अंदर? और फिर वो उठकर कपड़े पहनकर चला गया, लेकिन रात को आऊंगा यह बोला. अब सभी अपने अपने कपड़े पहन चुके थे, क्योंकि उन्हें अब वापस भी जाना था.

अब वो सभी चले गये और रूम पर अब में अकेली थी तो में बाथरूम में जाकर नहाने लगी और फिर मैंने सुरेश को कॉल करके बुलाया और कुछ खाने के लिए बाहर से लाने को कहा तो वो आया और मैंने देखा कि उसके हाथ में एक डिजिटल कैमरा भी था, लेकिन मैंने उससे कुछ नहीं पूछा अब में पूरी नंगी ही खाना खा रही थी. तभी उसने मुझसे बोला कि मेडम जी मुझे आपसे कुछ चाहिए.

मैंने पूछा कि बताओ क्या चाहिए? तो उसने मुझसे कहा कि कल रात आपने मुझसे बोला था कि में जो कहूँगा आप वो करोगी, तो मैंने कहा कि हाँ बोल ना मेरे राजा क्या बता तुझे क्या चाहिए?

फिर सुरेश ने कहा कि उसे मेरी कुछ नंगी फोटो चाहिए, जिसे देखकर वो हमेशा मुझे याद रखे. फिर मैंने कुछ देर मन ही मन सोचा कि उसको फोटो देने से क्या फ़र्क पड़ता है? दोस्तों में आप लोगों को बता दूँ कि मेरे लिए नंगी फोटो खिंचवाना या देना कोई नई बात नहीं है, क्योंकि मेरे बॉयफ्रेंड ने मेरी कई फोटो नेट पर भी बहुत सालों पहले डाल दी है.

मैंने उससे कहा कि ठीक है. अब में खाना खाकर उठी और मैंने उससे कहा कि हाँ ठीक है सुरेश. फिर उसने मेरी कमर की फोटो ली और मेरे सामने की फोटो मेरी गांड की क्लोजअप फोटो मेरी चूत की क्लोजअप फोटो और भी बहुत नए नए तरीकों से मेरी फोटो खींची. तभी मैंने देखा कि उसका लंड टाईट हो गया और में उसके पास गई और उससे कहा कि सुरेश आज एक बार और आखरी बार खेल ले मेरे साथ चुदाई का खेल, कल तो यह रंडी वापस चली जाएगी. अब वो कुछ उदास हो गया, लेकिन मैंने उससे कहा कि आओ बेबी तुम्हें तो खुश होना चाहिए कि में तुमसे चुदी हूँ, सुरेश मेरी चूत तुम्हारे लंड की दीवानी है और मैंने उसके लंड को बाहर निकालकर चूसना शुरू कर दिया और वो मोनिंग करने लगा, आहहह हाँ चूसो मेडम जी आह्ह्ह्ह मेडम जी आहहहह.

मैंने उससे कहा कि प्लीज़ सुरेश मुझे सोनिया बोलो. वो अब और भी पागल हो गया और मेरे बालों को पकड़कर मेरे मुहं को चोदने लगा, ओह्ह्ह सोनिया आह्ह्ह्ह. फिर मैंने सुरेश से कहा कि प्लीज़ सुरेश तुम मुझे गंदी गंदी गालियाँ देकर चोदो ऑश.

दोस्तों आप लोग नहीं जानते, लेकिन चुदाई का असली मज़ा तो गालियों के साथ ही है और जब मुझे गाली देकर चोदता है तो में पूरी रंडी की तरह उससे चुदती हूँ और अब सुरेश भी मेरे मुहं को चोदता हुआ मुझे गालियाँ देने लगा, तू साली रंडी, तू एक छिनाल है, जो लंड की भूखी है, रंडी है तू साली, कुतिया और दोस्तों शायद यह सब बोलकर वो इतना गरम हो गया कि वो मेरे मुहं में ही झड़ गया और फिर दोस्तों में उसका पूरा वीर्य निगल गई.

अब दोस्तों में एक कुतिया बन गई और अपने घुटनों के बल चलते हुए में बाथरूम की तरफ जाने लगी, सुरेश भी नंगा होकर मेरे पीछे पीछे आने लगा और अब में अपने बाथटब में जाकर लेट गई और सुरेश से बोली कि मेरे ऊपर आ जा और मेरी चूत को चाट. दोस्तों उसने मेरे मुहं से यह शब्द सुनते ही तुरंत एक कुत्ते की तरह मेरी चूत को चाटना शुरू कर दिया, आहहह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़ हाँ थोड़ा और अंदर तक चाटो आहहह्ह्ह वाह मज़ा आ गया.

दोस्तों वो अब अपनी जीभ से मेरी चूत को बहुत प्यार कर रहा था, उफ्फ्फ्फ़ और में तो कुछ देर बाद उसके होंठो में ही झड़ गई. दोस्तों फिर में उठी और उससे कहा कि बेबी मेरे पूरे बदन पर साबुन लगा दो. दोस्तों उसने मेरी गर्दन से साबुन लगाना शुरू करते हुए मेरी कमर से मेरी गांड और मेरे पैरों पर पूरी जगह साबुन लगाया और अब वो मेरे बूब्स पर साबुन मलने लगा, मेरे पेट पर, मेरी चूत पर वाह दोस्तों मज़ा आ गया, थोड़ा साबुन उसने मेरी चूत के अंदर भी लगा दिया.

फिर मेरी जाघों पर और मेरे पूरे बदन पर और अब मैंने उसको हग किया और अपने बदन का सारा साबुन उसके बदन पर लगा दिया और पानी चालू कर दिया और उसकी बाहों में आकर उसके लंड को अपने हाथों से सहलाने लगी, जिसकी वजह से दोस्तों मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. अब दोस्तों उसने एक टावल लेकर मेरे पूरे बदन को साफ किया और मैंने भी उसके बदन को साफ किया. उसके बाद उसने मुझे अपनी गोद में उठा लिया और मेरी गांड को पकड़ा और मुझे ले जाकर बेड पर फेंक दिया और अब वो मेरी चूत को चाटने लगा, जिसकी वजह से में बिल्कुल पागल हो रही थी, वो मेरी चूत को अपनी जीभ से बहुत स्पीड से चोद रहा था.

फिर वो मेरी जांघो को चाटने लगा. दोस्तों मेरी चिकनी जांघो के तो सारे दीवाने है और अब वो मुझे चूमने लगा. दोस्तों उसने करीब दस मिनट तक मेरे जिस्म के एक एक हिस्से पर अपने होंठो से अपना नाम लिख दिया और उसने बहुत ही प्यार से मेरे जिस्म के हर हिस्से को प्यार किया. में तो उसकी रानी बनना चाह रही थी.

अब उसने मुझसे कहा कि सोनिया में तुम्हें एक बार और चोदना चाहता हूँ, लेकिन तुम्हारी मर्जी से. फिर में अपनी चूत की तरफ इशारा करने लगी, लेकिन वो तो इस बार मेरी गांड मारना चाहता था, अब उसने मेरी गांड पर एक थप्पड़ दिया और बोला कि तू साली रंडी में तेरी इतनी बड़ी गांड को देखकर तो में पागल हो जाता हूँ.

फिर उसने मेरी गांड के छेद पर एक किस किया और मेरी गांड को चोदने लगा. कुछ देर चोदने के बाद वो कुछ थक सा गया तो मैंने उसे लेटने को कहा और फिर में उसके लंड को अपनी गांड में लेकर उस पर कूदने लगी, आह्ह्ह. दोस्तों मुझे ऐसा करने में बहुत मज़ा आया, कूदती रही और वो भी धीरे धीरे नीचे से धक्के देता रहा और फिर कुछ देर बाद अचानक से वो मेरी गांड में झड़ गया और मैंने उसे चूम लिया, वो मोन कर रहा था और हम बहुत थक चुके थे.

इतनी चुदाई के बाद अब हम दोनों एक दूसरे की बाहों में पूरे नंगे ही सो गए, लेकिन कुछ समय बाद मेरी नींद खुली तो मैंने देखा कि में अकेली थी और सुरेश जा चुका था. में फिर से सो गई और अब थोड़ी देर बाद राज आ गया और मुझे नंगा देखकर उसने मुझे उठाया और मुझसे कहा कि धन्यवाद सोनिया तुमने तो मेरी राते ही बदल दी हैं, मुझे हमेशा ऐसा लगता है कि में तुम्हारे पास आकर तुम्हारी बाहों में आकर तुम्हें चोद दूँ और अपने लंड का सारा रस तुम्हारी चूत के अंदर डाल दूँ.

फिर मैंने कहा कि राज तुम भी बहुत अच्छे हो, लेकिन में फिर कुछ उदास सी हो गई तो उसने मुझसे पूछा कि क्या हुआ? फिर मैंने कहा कि में कल शाम को वापस जा रही हूँ तो वो भी मेरी यह बात सुनकर थोड़ा उदास हो गया और उसने मुझे अपनी बाहों में ले लिया और एक छोटी सी किस की और फिर हट गया, लेकिन मैंने उसे तुरंत पकड़ लिया और उसके होंठो को चूसने लगी और में उसकी आखों में अपने लिए प्यार देख रही थी, शायद वो मुझसे प्यार करने लगा था. मैंने कहा कि नहीं राज में इस लायक नहीं हूँ कि कोई मुझे प्यार करे.

फिर उसने मुझसे कहा कि सोनिया में सच में तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और में तुमसे शादी भी करना चाहता हूँ.

दोस्तों वो अब बहुत उदास हो गया, लेकिन दोस्तों में चाहते हुए भी ऐसा नहीं कर सकती थी, में अपनी खुशी के लिए उसको धोखा नहीं दे सकती थी, इसलिए मैंने उससे कहा कि राज में अब सेक्स की इतनी भूखी हो चुकी हूँ कि कोई बंधन अब मुझे नहीं बदल सकता, लेकिन वो मुझे हर तरह से अपनाना चाहता था. दोस्तों क्योंकि वो मुझसे बहुत सच्चा प्यार करता था, लेकिन फिर भी मैंने उसको साफ मना कर दिया. फिर उसने मुझसे कहा कि कोई बात नहीं सोनिया जैसा तुम उचित समझो, लेकिन में कल शाम तक तुम्हें बहुत प्यार करना चाहता हूँ और मेरा तुमसे बस इतना कहना है कि आज रात से कल शाम तक तुम पर सिर्फ़ मेरा ही हक हो.

दोस्तों में उससे मना नहीं कर सकी और तभी उसके फोन पर किसी का कॉल आया, उसने कुछ बात करके मुझसे कहा कि बेबी में अब जाता हूँ, लेकिन रात को खाना हम साथ में खाएगें. फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक है जैसा तुम्हें अच्छा लगे और करीब रात को 9 बज़े राज आया और मैंने देखा कि वो मेरे लिए कुछ लाया था. मैंने उससे पूछा कि यह क्या है राज? तो उसने कहा कि जान तुम ही देख लो क्या है? मैंने खोलकर देखा तो उसमें एक सेक्सी लाल कलर की साड़ी थी, जिसको देखकर में बहुत खुश थी, वो बहुत अच्छी डिज़ाईन की साड़ी थी और जालीदार थी और एक बॉक्स था, जिसमें ब्रा, पेंटी भी थी और जो पूरी जालीदार और लाल कलर की थी.

फिर मैंने उसे एक किस किया और धन्यवाद कहा. दोस्तों में उस समय नंगी नहीं थी. मैंने एक टॉप और जीन्स पहना हुआ था, क्योंकि हमे बाहर खाना खाने जाना था तो मैंने उससे कहा कि राज मुझे अब बहुत भूख लग रही है चलो ना खाना खाने चलते है. फिर उसने मुझसे कहा कि बेबी प्लीज़ जो ड्रेस मैंने तुम्हे लाकर अभी दी है, तुम उसी में मेरे साथ बाहर चलो ना प्लीज़. दोस्तों में कैसे मना कर सकती थी और में उसी के सामने अपने कपड़े उतारने लगी. वो मुझे अपनी आखों से घूर रहा था.

मैंने पेंटी पहनी और ब्रा का हुक राज से लगवाया तो राज ने मुझे कमर पर किस कर दिया और मैंने पूछा कि बताओ राज में कैसी लग रही हूँ इस ब्रा और पेंटी में, लेकिन वो मुझसे बोला कि सोनिया प्लीज़ मुझे तुम्हें साड़ी में देखना है, लेकिन प्लीज़ तुम मेरे सामने साड़ी मत पहनो. अब में समझ गई, इसलिए में तुरंत अंदर चली गई और मैंने वो साड़ी पहनी और अपने होंठो पर लाल लिपस्टिक लगा ली, में बहुत सेक्सी लग रही थी. दोस्तों मुझे देखकर वो अपने घुटनों पर बैठ गया और मैंने देखा कि उसके हाथों में एक गुलाब था, जिसको देखकर में उस पर पूरी तरह से फिदा थी और मैंने उससे वो गुलाब ले लिया और में भी तुमसे बहुत प्यार करती हूँ कहा और उसे एक किस किया और अब में उसकी बाईक पर बैठ गई.

दोस्तों मैंने सोचा था कि हम किसी होटल में जा रहे है, लेकिन वो मुझे अपने घर ले गया और उस समय वहां पर कोई भी नहीं था. उसने दरवाजा खोला और कहा कि जान यह मेरा घर है. दोस्तों वो एक क्वॉर्टर जैसा दिखने वाला एक बंगला था, जो शायद अंदर से बहुत बड़ा था. फिर में अंदर गई और मैंने उससे कहा कि मुझे बहुत भूख लगी है.

अब वो मुझे अंदर रूम में ले गया और जैसे ही उसने लाईट को बंद किया तो मैंने देखा कि सारे रूम में मोमबत्तियां जल रही थी और टेबल पर खाना और वाईन के गिलास और बॉटल रखी हुई थी, जिसको देखकर में दोबारा बहुत चकित थी.

अब उसने मुझे बैठाया और हमने खाना खाया और वाईन पी, जिसकी वजह से हम दोनों ही थोड़े थोड़े नशे में थे. अब हम उसके बेड पर बैठकर इधर उधर की बातें कर रहे थे. तभी उसने मुझे बताया कि वो शादीशुदा है और उसकी यह बात को सुनकर में बहुत चकित थी, लेकिन दोस्तों उसकी पत्नी अब उसको छोड़कर किसी और के साथ रह रही थी, ऐसा उसने मुझे बताया और फिर वो बताते हुए रोने लगा.

दोस्तों उसे रोता हुआ देखकर में बिल्कुल पागल हो गई. दोस्तों अगर कोई लड़का किसी लड़की के लिए रो रहा है, इसका मतलब उस लड़के से ज्यादा और कोई उसे प्यार नहीं कर सकता. अब मैंने उसकी आखों पर किस किया और उसे चूमने लगी, प्लीज़ राज सोचो कि में ही तुम्हारी पत्नी हूँ प्लीज़ राज और तुम मुझे सब कुछ भूलकर प्यार करो, प्लीज़ राज.

फिर उसने मुझसे कहा कि में तुमसे बहुत प्यार करता हूँ सोनिया और अब उसने मेरी साड़ी को उतार दिया और मुझे नंगा करने लगा, मानो मेरे साथ अपनी सुहागरात मना रहा हो और अब में सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में थी. मैंने भी तुरंत उसकी शर्ट को उतार दिया और उसके निप्पल को चूमने लगी और उसकी छाती को चाटने लगी और वो मोन करने लगा, में तुमसे बहुत प्यार करता हूँ सोनिया. फिर मैंने भी उससे कहा कि हाँ में भी तुमसे उतना ही प्यार करती हूँ और फिर मैंने उसकी जीन्स के बटन को खोल दिया और अब वो मेरे सामने नंगा था और उसका सात इंच का लंड मेरे सामने था और में उसे चूसने लगी.

दोस्तों वो मोन कर रहा था, हाँ चूसो सोनिया मेरी बेबी हाँ बेबी इसे और ज़ोर से चूसो सोनिया आआहहहह सोनिया. दोस्तों में उसके मुहं से यह शब्द सुनकर फुल स्पीड में उसके लंड को चूसने लगी और कुछ देर में वो मेरे मुहं के अंदर ही झड़ गया.

फिर उसने कुछ देर बाद मेरी ब्रा के हुक को खोल दिया और वो मेरे बूब्स को चूसने लगा और में कहने लगी, हाँ चूसो इन्हें राज और ज़ोर से चूसो इन्हें आहहह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ राज प्लीज़ राज इसका पूरा दूध पी जाओ और वो मेरा पूरा बूब्स अपने मुहं में भरने लगा और अब उसने मेरी नाभि पर किस किया और मुझे बेड पर लेटा दिया और अब मेरी चूत पूरी गीली हो चुकी थी, वो मेरी नई पेंटी को उतारकर अपने मुहं में डालकर चूसने लगा. अब वो मेरी चूत को चूमने लगा, उसके हाथ अभी भी मेरे बूब्स को दबा रहे थे और मैंने उससे कहा कि राज अपनी जीभ से मुझे चोदो और अपने हाथों से मैंने अपनी चूत को खोल दिया, जिससे उसकी जीभ मेरे पूरे अंदर जा सके. करीब 5 मिनट तक उसने मुझे ऐसे ही चोदा और फिर वो मेरी चूत का पूरा रस गटक गया.

अब दोस्तों उसने मुझे ज़मीन पर सीधा लेटा दिया और मेरे दोनों पैरों को उठाया और मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया. दोस्तों में अब चुद रही थी, आहहह्ह्ह राज उफफ्फ्फ्फ़ राज प्लीज़ आज मुझे बहुत जमकर चोदो, राज प्लीज़. दोस्तों अब उसने अपना लंड बाहर निकाला और मुझे अपनी गोद में उठा लिया और मुझे चोदने लगा और वो मेरे बूब्स भी चूस रहा था.

दोस्तों हमें ऐसे चुदाई करने में बहुत मज़ा आ रहा था, हाँ चोदो मुझे आहमम्म आहमम्म आईईईईइ अह्ह्ह्हह और ज़ोर से चोदो मुझे राज प्लीज़ हाँ और प्लीज़ आहहहह और मुझे पता ही नहीं चला कि में अब झड़ने वाली हूँ और मैंने उससे कहा तो उसने सुनते ही मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरी चूत पर अपने होंठो को टिका दिया और मेरा पूरा रस वो पी गया और अब उसने मेरे मुहं के अंदर मेरा ही रस थूक दिया और जिसको में पूरा निगल गई. दोस्तों में सच कहूँ तो में भी उससे बहुत प्यार करने लगी थी और में उसे पूरा संतुष्ट करना चाहती थी.

अब वो लेट गया और मैंने उसके ऊपर बैठकर उसके लंड को अपनी अंदर चूत में ले लिया और मेरी सेक्सी चूत उसके लंबे तने हुए लंड को खाने लगी, आहहह वाह दोस्तों मज़ा आ गया वो भी नीचे से धक्के दे रहा था और में भी ऊपर से पागलों की तरह उसके लंड पर उछल रही थी और वो भी मेरा पूरा साथ दे रहा था हाँ और ज़ोर से कूदो उह्ह्ह्ह हाँ थोड़ा और ज़ोर से सोनिया प्लीज़ तुम्हारी चूत बहुत टाईट है और मुझसे इतना बोलते ही वो मेरी चूत में झड़ गया और एक लंबी आहहह उसके मुहं से निकली और मैंने उसके होंठो को उसी पोज़ में चूम लिया. दोस्तों में अब पूरी संतुष्ट हो चुकी थी, वाह राहुल मज़ा आ गया, तुम बहुत अच्छे हो और मैंने पूरा अपने आपको उसकी बाहों में दे दिया.

अब करीब रात के 2 बज़ चुके थे, लेकिन हम अभी भी नहीं सोए, क्योंकि हम कल शाम तक का पूरा समय एक साथ बिताना चाहते थे. अब वो उठा और उसने मुझसे कहा कि सोनिया में तुम्हें एक और गिफ्ट देना चाहता हूँ और फिर मैंने देखा कि उसके पास एक नीले कलर की वन पीस ड्रेस थी. मैंने तुरंत उसे पहना तो वो मुझसे कहने लगा कि सच में सोनिया तुम बहुत सेक्सी लग रही हो.

फिर राज से मैंने कहा कि राज चलो ना लंबी ड्राईव पर चले, क्योंकि में उसकी बाईक पर बैठना चाहती थी और उसने एक हाफ पेंट पहनी थी और कुछ भी नहीं और हम निकल पड़े लंबी ड्राइव पर और जब मेरे बड़े बड़े बूब्स उसकी नंगी पीठ से टकराते तो में पागल हो जाती. फिर करीब आधे घंटे के बाद उसने अपनी बाईक को रोक दिया और हम अब पैदल चलने लगे और दोस्तों मुझे कुछ याद आ रहा था कि यह तो वही किनारा है जहाँ पर में राज से सबसे पहले मिली थी.

दोस्तों मैंने उसे दोबारा हग किया और में फिर से एक परी की तरह उड़ने लगी. दोस्तों मुझे प्रकृति का यह मंज़र बहुत सुहाना लगता है और इसे देखकर में अपने सारे गम भूल जाती हूँ. दोस्तों अब राज आया और मुझे अपनी बाहों में ले लिया. मैंने राज से अपने आपको दूर हटाया और दूर जाकर उसको पानी फेंककर मारने लगी और में अब बहुत जल्दी जल्दी उसके ऊपर पानी फेंक रही थी और अब वो मेरे पीछे दौड़कर आने लगा और में भागने लगी.

दोस्तों तभी उसने मुझे पीछे से पकड़ लिया और मुझे अपनी गोद में उठाकर किस कर दिया और अब हम दोनों पानी में गिर पड़े. अब दोस्तों वो मेरे सारे बदन पर किस करने लगी. दोस्तों आह्ह्ह्ह सच में पानी के अंदर चुदाई करने का मज़ा कुछ अलग ही होता है.

अब दोस्तों उसने मेरी सिंगल पीस पर जो मेरी चूत के पास एक हल्की सी पट्टी थी, उसे साईड करके मेरी सेक्सी चूत को चूसने लगा, आआह्ह्ह राज प्लीज़ राज हाँ चूसो हाँ राज आह्ह्ह्ह राज आहश. अब उसने मुझे अपनी गोद में उठाकर मुझे पानी के किनारे ले गया और मुझे पूरा नंगा कर दिया और मेरी गांड के छेद को किस करके चोदने लगा और बोलने लगा कि सोनिया आज में तुम्हारी गांड को भी चोदना चाहता हूँ और फिर उसने अपनी एक उंगली को मेरी गांड के अंदर डाल दी और वो मेरी चूत को घिस रहा था, लेकिन दोस्तों अब मुझसे और रुका नहीं जा रहा था. अब मैंने उससे कहा कि राज ओह्ह्हह्ह्ह्ह मेरी बेबी प्लीज अब चोदो मुझे.

फिर उसने मुझे अपने ऊपर बैठा लिया और मेरे बूब्स को पकड़कर वो मेरी गांड के अंदर धक्के देने लगा, ओह्ह्ह राज आहह्ह्ह राज हाँ राज आहहहहह अम्मम्म्म. दोस्तों वो बहुत देर मुझे चोदने के बाद में उठा और उसने मेरे मुहं के अंदर लंड दे दिया और पूरी ताकत से मेरे मुहं को चोदने लगा और थोरी देर में वो मेरे मुहं के अंदर झड़ गया. अब हम दोनों नंगे थे और हमने देखा कि हमारे जो कपड़े थे वो पानी के बहाव से पता नहीं कहाँ चले गये और दोस्तों अब सुबह भी होने ही वाली था तो हमने जाने का प्लान किया और दोस्तों अब बाईक पर हम दोनों ही नंगे थे. फिर मैंने राज से कहा कि राज प्लीज़ मुझे बाईक चलाने दो.

दोस्तों मुझे बाईक चलाना आता है और वो मुझे मेरे बॉयफ्रेंड ने कॉलेज में सिखाई थी. अब मेरे पीछे राज बैठा हुआ था और उसके दोनों हाथ मेरे बूब्स पर और उसका लंड मेरी गांड से छू रहा था और फिर हम कुछ देर बाद राज के घर पर पहुंच गए और उसके बेडरूम में जाकर एक दूसरे की बाहों में सो गये. दोस्तों में उम्मीद कर रही हूँ कि आप मेरी कहानी को पढ़कर मज़े ले रहे है?

दोस्तों हम दोनों दूसरे दिन दोपहर को उठे और हमने कुछ बचा हुआ खाना खाया और मैंने कपड़े पहनना चालू किया, क्योंकि मुझे वापस जाना था तो मैंने राज से ब्रा का हुक लगाने को कहा, लेकिन उसने मेरी ब्रा को उतार दिया और मेरे बूब्स को चूसने लगा, प्लीज राज छोड़ दो मुझे अब जाने दो. फिर वो बोला कि हाँ सोनिया में एक आखरी बार तुम्हें चोदना चाहता हूँ, तो मैंने कहा कि ठीक है राज, लेकिन थोड़ा जल्दी करना.

तब उसने मेरी पेंटी उतारी और मुझे घोड़ी बनाकर अपना लंड डालकर अंदर बाहर करने लगा. दोस्तों वो बहुत तेज तेज धक्के दे रहा था, क्योंकि उसे पता था कि आखरी बार वो मेरी चूत मार रहा है अम्म्म्म आहहह राज हाँ राज मज़ा आ गया थोड़ा और अंदर डालो और इस तरह चोदते हुए वो मेरी चूत में झड़ गया.

दोस्तों मैंने उसी हाल में अपनी काम से भरी हुई चूत में पेंटी पहनी और राज ने मुझे ब्रा पहनने में मदद की और मैंने वही पर अपनी साड़ी पहनी और राज ने मुझे मेरे होटल ले जाकर छोड़ दिया. दोस्तों अब थोड़ा ही समय बाकी था तो मैंने अपना सामान लिया और बाहर आ गई और उसकी बाईक पर बैठकर हम स्टेशन पहुंचे और में ट्रेन में अपने ऊपर वाली सीट पर बेग रखकर नीचे लोवर सीट पर बैठ गई, क्योंकि उस समय गाड़ी में ज्यादा लोग नहीं थे और अब चलने कुछ टाईम बचा था और राज मेरे पास में ही बैठा हुआ था.

मैंने देखा कि वो बहुत उदास था. फिर मैंने उससे कहा कि प्लीज़ राज मेरी मजबूरी को भी समझो मेरा जाना बहुत जरूरी है, लेकिन वो मुझसे सच्चा प्यार करता था. फिर उसने मुझसे कहा कि सोनिया प्लीज़ एक बार फिर सोच लो में तुमसे शादी करना चाहता हूँ बेबी प्लीज़, लेकिन मैंने उससे कहा कि नहीं राज अब गाड़ी ने भी हॉर्न दे दिया है और पता नहीं क्यों मैंने उसे अपना दिल्ली का मोबाईल नंबर दे दिया, मुझे नहीं पता कि मैंने कैसे उसे अपना नंबर दे दिया, क्योंकि में कभी भी किसी को अपना नंबर नहीं देती, लेकिन राज से शायद में भी प्यार करने लगी थी. अब ट्रेन चलने लगी तो मैंने उसे एक किस किया और फिर वो ट्रेन से उतर गया, अब में अपने घर चल पड़ी. दोस्तों में हमेशा भूल जाती हूँ कि मैंने किस किस से चुदाई करवाई, लेकिन राज से पता नहीं मुझे क्या लगाव हो गया था.

(Visited 1 times, 1 visits today)