सेक्सी पड़ोसन की सील तोड़ चुदाई

हैल्लो दोस्तों, में आज आप सभी चाहने वालों को अपना सेक्स अनुभव सुनाने जा रहा हूँ. दोस्तों में भी पिछले कुछ सालों से सेक्सी कहानियाँ पढ़कर उनके मज़े लेता आ रहा हूँ और में बहुत दिनों से अपनी भी वो कहानी आप सभी तक पहुँचाने के बारे में सोच रहा था, लेकिन ना जाने क्यों बार बार डरकर पीछे हट जाता और आज में बहुत कुछ सोचकर वो घटना आप लोगों तक पहुँचाने जा रहा हूँ.

में उम्मीद करता हूँ कि यह आप सभी को जरुर पसंद आएगी, क्योंकि यह कोई फेक कहानी नहीं मेरी सच्ची घटना है, जो कुछ समय पहले मेरे साथ घटी. अब में वो घटना सुनाने के सबसे पहले आप सभी को उस लड़की जो मेरी पड़ोसन है और जिसका नाम सोमी है उसके बारे में बात देता हूँ, जिसकी मैंने चुदाई करके उस अनुभव के मज़े लिए. दोस्तों सोमी एक गोरी और सेक्सी फिगर की लड़की है उसका साईज़ 36-26-36 बहुत कमाल का है.

दोस्तों वो मेरी पड़ोसन थी इसलिए हम दोनों बहुत अच्छे दोस्त थे और हम एक दूसरे के साथ बहुत सारी बातें किया करते थे, वो मुझसे अपनी हर एक बात किया करती थी और मुझसे वो कभी कुछ भी नहीं छुपाती थी. एक दिन उसे मुझसे अपनी पढ़ाई के बारे में कुछ पूछना था, इसलिए वो अपनी किताब लेकर आ गई और में उस समय अपने रूम में बैठा हुआ कम्पूटर पर फिल्म देख रहा था. फिर वो मुझसे बोली कि भैया मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा है, प्लीज आप मुझे समझा दो, में बहुत देर से इस सवाल को लेकर बहुत परेशान हूँ.

फिर मैंने उससे कहा कि ठीक है आ जा, में बता देता हूँ और फिर वो मेरे पास में आकर बैठ गई और मैंने उसे दो मिनट रुकने के लिए कहा और मैंने कम्पूटर को बंद करके उसे अपने सामने कुर्सी पर बैठा लिया, वो मुझसे उस सवाल का हल पूछने लगी, वो उस समय लाल कलर के टॉप में थी और बहुत ही अच्छी नजर आ रही थी. मैंने उसके सवाल का हल उसे बता दिया और फिर उससे कहा कि एक बार मेरे सामने हल करो, तो वो मुझसे ठीक है बोलकर उसे हल करने लगी और जैसे ही लिखने के लिए वो थोड़ा सा झुकी तो उसके बूब्स मुझे दिखने लगे मेरा लंड उसके बूब्स को देखकर तनकर खड़ा हो गया और वो जब तक सवाल करती रही में उसके बूब्स को देखता रहा.

फिर वो कुछ देर बाद अपना काम खत्म करके चली गई और उसके चले जाने के बाद मैंने उसको सोचकर मुठ मारी.

दोस्तों इससे पहले मेरे दिमाग़ में उसके लिए ऐसा कुछ नहीं था, लेकिन अब मेरी सोच उसके लिए एकदम बदल गई थी और अब धीरे धीरे मेरी नियत फिसलने लगी थी. में उसके साथ बहुत समय बिताने लगा था और हम साथ में क्लास जाते और वहां से आना भी हमारा साथ में ही होता था. फिर वो भी अब धीरे धीरे मेरे बहुत करीब आ गई थी, लेकिन उसके दिमाग़ में ऐसा कुछ नहीं था और उसकी हरकतो से मुझे साफ पता चलता था.

एक दिन हमारे घर के पास एक दीदी की शादी थी और मेरी मम्मी उसकी मम्मी और मेरा भाई और उसका भाई साथ में चले गए, इसलिए हम दोनों अपने घर पर एकदम अकेले थे. फिर वो उसके घरवालों के जाने के कुछ देर बाद मेरे पास आ गई और फिर वो मुझसे हंस हंसकर बातें करने लगी, लेकिन में उस समय उसको चोदने का विचार बना रहा था. अब हम बातें करने लगे और बहुत देर हंसी मजाक बातें करने के बाद वो मुझसे बोली कि आपने आज तक कोई गर्लफ्रेंड क्यों नहीं बनाई? तो मैंने उससे कहा कि मुझे आज तक कोई तेरे जैसी मिली ही नहीं और यह बात बोलकर में उसकी तरफ़ मुस्कुराने लगा और वो मुझसे ठीक है बोलकर बिल्कुल शांत हो गई.

अब मैंने उससे पूछा कि तूने आज तक कोई बॉयफ्रेंड क्यों नहीं बनाया? तभी वो मुझसे बोली कि आज तक आप जैसा मुझे भी कोई नहीं मिला और वो यह शब्द बोलकर ज़ोर ज़ोर से हंसने लगी. अब हम धीरे धीरे सेक्स सम्बन्ध के बारे में बातें करने लगे और तभी वो मुझसे कहने लगी कि मैंने अपनी कुछ दोस्तों से सुना है कि उन सभी कामों को करने में बहुत मज़ा आता है, क्या ऐसा सच में होता है?

दोस्तों उसके मुहं से यह बात सुनकर में पागल हो गया और अंदर ही अंदर बहुत खुश होने लगा था, क्योंकि मुझे उससे यह बातें सुनने की बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी, लेकिन मेरे लिए उसकी यह बातें आगे जाकर फायदा देने वाली थी और में भी खुद उसे इस दिशा में ले जाना चाहता था, लेकिन अब वो खुद मुझसे वो सब बातें पूछने लगी थी और धीरे धीरे आगे बढ़ती रही. फिर तभी वो मुझसे बोली, लेकिन यह सब ग़लत है, ऐसा नहीं करना चाहिये और यह बात सुनकर मेरा खड़ा लंड उदास होकर गिर गया. मैंने उससे पूछा कि इसमें क्या ग़लत है? दुनिया में सभी लोग अपनी लाइफ अपने अपने तरीके से जीते है, वो सब उनके ऊपर होता है और वो यह बात सुनकर थोड़ी शांत हो गई.

अब मैंने उससे पूछा कि क्या कभी तूने उसके बारे में सोचा है? मेरे मुहं से यह बात सुनकर वो चकित हो गई और कहने लगी कि यह आप क्या बोल रहे हो? अब मैंने उससे कहा कि बस मैंने तुमसे पूछा है, तो वो मुझसे कहने लगी कि नहीं और उसने वही सवाल मुझसे पूछा.

फिर मैंने तुरंत हाँ बोल दिया और फिर उसने मुझसे पूछा कि किसके साथ? मैंने झट से बोला कि तेरे साथ और वो डर गई. फिर मैंने उससे कहा कि तू डर मत. फिर वो शांत हो गई. अब मैंने उससे कहा कि में तुमसे सही में बहुत प्यार करता हूँ, उसने मेरी तरफ स्माइल किया और फिर उसने अपनी तरफ से मुझे जवाब दे दिया कि हाँ लेकिन में कुछ और समझती हूँ.

यह बात सुनकर में थोड़ा गुस्सा होने का नाटक करने लगा और उसकी बातों का जवाब नहीं दे रहा था इसका मतलब वो तुरंत समझ गई और वो मुझसे बोली कि हाँ में भी आपसे बहुत प्यार करती हूँ, लेकिन डरती हूँ कि किसी को इस बात का पता ना चल जाए. फिर मैंने उससे कहा कि मेरे होते हुए तुझे किसी से डरने की ज़रूरत नहीं है. फिर उसने तुरंत मेरा हाथ पकड़ लिया और फिर वो मुझसे बोली कि प्लीज अब आप इतना गुस्सा मत करो. यह बात वो मुझसे बोलकर मेरे बहुत करीब आ गई और उसने मेरे कंधे पर अपना सर रख दिया.

फिर दोस्तों मैंने सही मौका देखकर उसका फायदा उठाते हुए अपना एक हाथ उसकी कमर के पीछे से ले जाकर उसकी कमर को पकड़कर अपनी बाहों में जकड़ लिया, जिसकी वजह से वो अब मेरे बहुत करीब थी और अब मुझे उसके सेक्सी बदन की गरमी महसूस हो रही थी और उसकी गरम गरम सांसे तेजी से और धड़कते दिल की धड़कने महसूस हो रही थी, वो पूरी पसीने से भीग चुकी थी. तभी मैंने उसके माथे पर किस किया और उसने भी अपनी तरफ से जवाब देते हुए मुझे गाल पर किस किया और मुझे ज़ोर से हग कर लिया, जिसकी वजह से अब मेरी हिम्मत बढ़ गई थी. मैंने उससे अपनी आँखो में देखने के लिए कहा और उसके पास जाने लगा, तो उसने अपनी आखें बंद कर ली और मैंने धीरे से उसके होंठो पर किस किया.

उसने भी मुझे किस किया और अब हम दोनों एक दूसरे को स्मूच करने लगे और बहुत देर तक किस करने के बाद हम दोनों अब मेरे रूम में चले गए. वहां पर हमने फिर किस किया और इस बार मैंने उसके बूब्स पर हाथ रख दिया, लेकिन उसने मुझसे कुछ नहीं कहा, वाह दोस्तों क्या मस्त बूब्स थे एकदम मुलायम मुलायम, बड़े आकार के बिल्कुल टाईट. फिर मैंने धीरे से उसके टॉप में अपना एक हाथ नीचे से डाल दिया तो भी वो मुझसे कुछ नहीं बोली और अब में उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर से दबाने लगा जिसकी वजह से वो सिसकियाँ लेने लगी थी आअम्म उम्ममम आह्ह्ह्ह. फिर मैंने तुरंत उसका टॉप उतार दिया वो बहुत शरमा गई और मुझसे चिपक गई मैंने उससे कहा कि शरमाओ मत में ही हूँ और में उसे किस करने लगा. उसने अपना हाथ मेरे लंड पर रख दिया, जो एकदम कड़क था और वो उसे धीरे धीरे सहलाने लगी. उसने भी मेरी टी-शर्ट को उतार दिया और में अब उसके बूब्स को दबा रहा था. उसकी वो काली कलर की ब्रा उसके गोरे और बड़े आकार के बूब्स पर वाह क्या मस्त लग रही थी? में बता नहीं सकता.

अब मैंने उसकी ब्रा को उतार दिया और उसके बूब्स को पकड़कर चूसने लगा, वो अब तक बहुत गरम हो गई थी और आवाज़ करने लगी ऊह्ह्ह्ह आह्ह्हह्ह प्लीज और करो ज़ोर से, हाँ खा जाओ इन्हे उम्म्म आईईइ में तुमसे बहुत प्यार करती हूँ मेरी जान, में अब तुम्हारी हूँ. अब मैंने उसकी जीन्स को भी उतार दिया और अपनी भी हम दोनों सिर्फ़ अपनी अपनी अंडरवियर में थे और फिर उसने मेरा अंडरवियर उतार दिया और मेरे 6 इंच लंबे और 2 इंच मोटे लंड को देखकर वो मुझसे बोली कि क्या इतना बड़ा? यह तो बहुत बड़ा है यह बात कहकर वो लंड को हिलाने लगी.

फिर मैंने उससे कहा कि तुम इसे एक बार मुहं में ले लो, लेकिन उसने मुझसे ऐसा करने के लिए साफ मना कर दिया और मेरे बहुत ज़ोर देने पर वो तैयार हो गई. मैंने उससे कहा कि पहले तुम इसके ऊपर किस करो और उसने किस किया और फिर मुहं में लाने लगी. वाह क्या अहसास था गरम गरम वो अपने मुहं में पूरा लंड धीरे धीरे अंदर बाहर करती रही, जिसकी वजह से मुझे बहुत मज़ा आने लगा था, लेकिन कुछ देर के बाद ही में उसके मुहं में झड़ गया और मैंने उसे जबरदस्ती अपना पूरा गरम गरम वीर्य पिला दिया और वो पूरा का पूरा गटक गई.

मैंने उसे बेड पर सीधा लेटा दिया और उसकी काली कलर की पेंटी को उतार दिया. मैंने उसके अंदर देखा कि एक गोरी चूत जिस पर एकदम हल्के हल्के बाल थे, जैसे कि उसने कुछ दिन पहले ही साफ किए हो और उसकी एकदम गोरी और गुलाबी चूत थी, जिसको देखकर में पागल हुआ जा रहा था.

अब मैंने चूत पर अपना एक हाथ रख दिया और फिर उसको हल्के हल्के सहलाने लगा, वो हल्की सी कांप रही थी और मैंने झट से उसके दोनों पैरों को दूर किया और उसकी गोरी, नरम मुलायम जांघ को किस करते हुए धीरे धीरे में उसकी चूत तक पहुंच गया और अब मैंने उसकी चूत पर किस किया. फिर मैंने उसकी चूत की फांक को एक दूसरे से अलग किया और देखा कि उसका दाना बिल्कुल गुलाबी और चूत एकदम सील बंद थी और अब में उसकी चूत को चाटने लगा.

फिर वो सिसकियाँ लेने लगी उफ्फ्फ्फ़ आह्ह्हह्ह हाँ थोड़ा और अंदर घुसाओ वाह मज़ा आ गया उईईईईइ करने लगी और वो अब अपने हाथों से मेरे सर को अपनी चूत पर दबाने लगी और कहने लगी कि हाँ खा जाओ इसे आह्ह्ह्ह आईईईईईई उम्म्म मुझे कुछ हो रहा है आह्ह्हह्ह मुझे आह्ह्ह्ह हाँ उफ्फ्फ्फ़ ज़ोर से चाटो और चाटो हाँ पूरा खा जाओ उफ्फ्फ्फ़ और फिर उसने मुझे गाली दी मादरचोद हाँ और ज़ोर से चाट इसे खा जा साले कुत्ते आह्ह्हह्ह्ह्.

दोस्तों मैंने पहली बार उसके मुहं से कोई गाली सुनी थी, जिसको सुनकर में बहुत चकित रह गया. दोस्तों उसका वो बिल्कुल बदला हुआ रूप और स्वभाव देखकर में बहुत आशचर्यचकित था, लेकिन उस समय हम दोनों ही बहुत जोश में थे इसलिए मैंने मन ही मन सोच लिया कि शायद वो ज्यादा जोश में आने की वजह से मेरे साथ यह सब कर रही, लेकिन मुझे उससे क्या लेना.

में तो लगातार उसकी गरम कामुक चूत को चूसता रहा, लेकिन अचानक से मैंने महसूस किया कि मेरे कुछ देर चाटने के बाद वो मेरे मुहं पर झड़ गई और मेरा पूरा मुहं उसके रस से गीला था और मैंने उसका सारा पानी पी लिया. फिर वो मुझसे बोली कि प्लीज अब मुझे और मत तड़पाओ, डाल दो प्लीज अंदर, जल्दी से डाल दो. अब मैंने अपने लंड का सुपाड़ा उसकी चूत पर रगड़ना शुरू कर दिया और वो हिलने लगी और बहुत सेक्सी आवाज़ निकाल रही थी, प्लीज अब तो डाल दो ना.

फिर मैंने अपना सुपड़ा अंदर डाला, जो बिना ज़ोर के थोड़ा अंदर चला गया और वो थोड़ा सा कांप रही थी. अब में उसके ऊपर लेटकर उसे किस करने लगा और किस करते करते मैंने सही मौका देखकर एक जोरदार झटका दे दिया और उसकी सारी आवाज़ मेरे मुहं से बाहर निकल गई, वो उस दर्द की वजह से तड़पने लगी और मुझसे कहने लगी कि प्लीज इसे बाहर निकालो आह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ मुझे बहुत दर्द हो रहा है प्लीज में मर जाउंगी आह्ह्ह्ह अब बाहर निकाल कुत्ते इसे निकाल दे उफ्फ्फ्फ़ क्या तू आज मेरी जान ही बाहर निकालकर मुझे छोड़ेगा, प्लीज आह्ह्हह्ह अब तो छोड़ दे मुझे आईईईईइ.

दोस्तों मैंने देखा कि उसकी आखों से पानी बाहर निकल रहा था और वो उस दर्द से मचल रही रही और कुछ देर बाद जब उसको आराम आने के बाद मैंने सही मौका देखकर एक और जोरदार झटका मार दिया और अब मेरा पूरा लंड उसकी चूत की सील को तोड़ता हुआ पूरा अंदर चला गया, जिसकी वजह से उसकी ज़ोर से आवाज़ निकल गई आह्ह्ह मर गई, मार डाला कुत्ते, साले अब तो बाहर निकाल अपने लंड को आह्ह्ह्हह् उफ्फ्फफ्फ्फ़ उूईईईईईई माँ मर गई.

फिर मैंने देखा कि अब उसकी चूत से खून बाहर निकल रहा था और कुछ देर तक ऐसे ही रहने के बाद उसने अपनी गांड को उठाकर चुदवाना शुरू कर दिया. मैंने भी अपने धक्के मारने शुरू कर दिए और करीब 30 मिनट तक लगातार उसको चोदने के बाद में अब झड़ने लगा. उस बीच वो तीन बार झड़ चुकी थी. फिर ऐसे ही पूरी ताकत और स्पीड में धक्के मारने के बाद में उसकी चूत में ही झड़ गया और मैंने अपना पूरा वीर्य उसकी चूत की गहराईयों में डाल दिया और कुछ देर ऐसे ही बिना कपड़ो के हम एक दूसरे से चिपके रहे और एक दूसरे को किस करते रहे लेटे रहे.

फिर हमने अपने अपने कपड़े पहने और जब वो खड़ी हुई और थोड़ा चलने लगी तब मैंने देखा कि उससे अब ठीक तरह से चला भी नहीं जा रहा था, लेकिन वो फिर भी धीरे धीरे करके चली गई और कुछ देर बाद उसका मेरे पास फोन आ गया, वो मुझसे बोली कि वो अब एकदम ठीक है और अब वो सोने जा रही है, वो मुझसे बोली कि तुम मुझे बहुत अच्छे लगते हो और में आज तुम्हारे साथ पहला सेक्स अनुभव पाकर बहुत खुश हूँ, तुमने मुझे बहुत अच्छी तरह से मुझे बहुत मज़े देते हुए चोदा, जिसकी मुझे तुमसे उम्मीद थी.

में तुम्हारे चुदाई करने के तरीके से बहुत खुश हूँ और तुम्हारे साथ मुझे मज़ा आ गया, लेकिन तुम्हारा ऐसा जोश में हमेशा तुमसे चाहती हूँ, में चाहती हूँ कि तुम ऐसे ही चोदते रहो और में तुमसे अपनी संतुष्टि प्राप्त करती रहूँ और मुझसे यह सब बोलकर उसने तुरंत फोन कट कर दिया. दोस्तों वो अब उस दिन के बाद से मेरी गर्लफ्रेंड है और अब हमें जब भी मौका मिलता है तो हम सेक्स करते है और मैंने उसको बहुत बार चोदा है.

(Visited 4 times, 1 visits today)