भाई का तगड़ा और मोटा लंड

ही ई’म अनु फ्रॉम पुंजब, मेरी आगे 20 एअर है, मैं ड्के की रेग्युलर रीडर हूँ और मुझे इसकी इंडियन सेक्स स्टोरी खास करके बहें भाई की चुदाई की बहुत पसंद हैं, अब मैं अपनी स्टोरी पर आती हूँ.
पहले मैं अपनी फॅमिली के बारे मे बता दूं, मेरी फॅमिली मे मैं मेरा भाई टोनी आगे 22, और मेरी मा कृष्णा आगे 42 एअर है.
ये ड्के पर मेरी पहली स्टोरी है जो एकद्ूम साची है, मैं 12त मे पड़ती हूँ, ये स्टोरी आज से लगभग 2 एअर पहले की है जब मैं 10त मे पड़ती थी.
एक दिन जब मुझे अचानक स्कूल से जल्दी च्छुटी हो गयी और मैं घर वापिस आई तो मुझे अपनी मा के रूम से कुच्छ अजीब सी आवाज़ें सुनाई दीं और मैं देखने के लिए मा के रूम की तरफ गयी.
जब मैने रूम के अंदर झाँक कर देखा तो मेरे पावं तले से ज़मीन खिसक गयी क्योकि मा के रूम मे मेरी मा और मेरा भाई टोनी दोनो बिल्कुल नंगे थे और टोनी भैया मा की छूट छत रहे थे और मा टोनी भैया का लंड चुस्स रही थी.
फिर थोरी देर बाद मा ने भैया का लंड अपने मूह से निकाला तो मैं अपने भाई का लंड देख कर डांग रह गयी क्योकि टोनी भैया का लंड लगभग 10 इंच लंबा और 3 इंच मोटा था.
भैया का लंड देख कर मेरे पूरे जिस्म मे अजीब सी सनसनी फैल गयी और मेरी छूट मे तेज खुजली होने लगी और मेरा दिल भी भैया से चूड़ने को करने लगा और मेरा मान काइया के अभी मा को भैया के पास से भगा दूं और खुद अपनी छूट खोल कर भैया का लंड अपनी छूट मे घुस्सा लूँ.
तभी भैया ने मा की दोनो टाँगे उप्पर उठा कर अपना लंड मा की छूट पर रखा और एक जोरदार ढाका मारा और भैया का 10 इंच लंबा लंड मा की छूट मे समा गया और मा भी अपनी गंद उठा कर चूड़ने लगी, मा चूड़ते हुए अहह ऑश कर रही थी.
भैया भी पूरे जोश से मा की चुदाई कर रहे थे और अब मुझसे भी इन दोनो की चुदाई देखी नही जा रही थी और मैने भी अपनी सलवार खोल कर अपने हाथ से अपनी छूट को मसालने लगी.
पर अब मुझसे बर्दाश्त नही हो रहा था और मैं रूम का डोर खोल कर अंदर गयी और चीखते हुए बोली ये काइया हो रहा है मेरी आवाज़ सुन कर मा और भैया दोनो चोंक गये और मेरी तरफ देखने लगे भैया का लंड अभी भी मा की छूट मे ही था.
मैने फिर चिल्लाते हुए कहा मा ये काइया हो रहा है तो भैया ने एक झटके मे अपना लंड मा की छूट से निकाला और मा भी जल्दी से उठ कर अपने कपड़े पहनेने लगी और तभी मा की नज़र मुझ पर पड़ी और मुझे देख कर मा को कुच्छ रहट मिल्ली क्योकि मैं भी नीचे से नंगी थी और मैं अपनी सलवार पहले ही उत्तर चुकी थी.
फिर मा मेरे पास आई और बोली अनु तू जब आई तो मैने गष्ज़ेट मे कहा मा तुम दोनो को शरम आनी चाहिए ये सब करते हुए और मैं रूम से बाहर जाने लगी.
तभी मा ने मुझे पकड़ कर मुझे भैया की तरफ ढाका दे दिया और मैं सीधे भैया के उप्पर जा कर गिररी और भैया का लंड मेरे पेट मे चुबने लगा और मा ने कहा बेटा आज इश्स साली रंडी को भी छोड़ डालो इस साली रंडी की छूट मे भी खुजली हो रही है और आज तुम अपने घड़े जैसे लंड से अपनी बहें की छूट की खुजली मिटा दो, और भैया ने भी मुझे अपनी बाहों मे जाकड़ लिया और मेरे होंठ चूमने लगे.
अब मे भी गर्म होने लगी और मेरा एक हाथ खुद ही भैया के लंड पर छल्ला गया और भैया का लंड जब मेरे हाथ मे आया तो लंड इतना गर्म था की एक बार तो मुझे लगा के मेरे हाथ मे कोई गर्म लोहे का रोड आस गया है.
फिर मा भी मेरे पास आई और मेरे कपड़े उतरने लगी और मा ने मुझे पूरी नंगी कर दिया मा और भैया तो पहले से ही नंगे थे अब हम तीनो ही पूरे नंगे थे और टोनी भैया मेरे जिस्म से खेल रहे थे और मैं भी मज़े से अहह ओह करने लगी.
टोनी भैया का आम हाथ मेरे कचे नींबू जैसे चुचि पर था और मेरी दूसरी चुचि को भैया ने अपने मूह मे लेकर चूसने लगा और दो हाथ से मेरी छूट को मसालने लगे, भैया का हाथ मेरी छूट पर पड़ते ही मेरी छूट ने पानी छ्चोड़ दिया और भैया का हाथ मेरी छूट के पानी से पूरी तरह से भीग गया.
और भैया ने अपने हाथ से मेरी छूट का पानी छत कर सॉफ कर दिया, फिर भैया ने अपना लंड पकड़ कर मेरे मूह मे घुस्सा दिया और मैं भैया का लंड अपने मूह मे लेकर चूसने लगी मुझे भैया के लंड का स्वाद बहुत अच्छा लगा.
फिर भैया ने मुझे बेड पर लिटा दिया और मेरी दोनो टाँगे फैला दीं और मेरी छूट को चूम लिया और मेरी छूट को चूम कर बोले अनु तेरी छूट के बाल बहुत बड़े हैं.
पहले मैं तेरी छूट के बाल सॉफ कर देता हूँ और ये कह कर भैया ने मुझे अपनी गोड मे उठा लिया और भैया का लंड मेरी गंद को टच करने लगा और भैया मुझे बातरूम मे ले गये और पहले मेरी छूट को अच्छी तरह से पानी आस सॉफ काइया और फिर मेरी छूट पर साबुन लगा कर रेज़र के साथ मेरी छूट के बाल सॉफ कर दिए.
बाल सॉफ होने के बाद मेरी कोमल छूट चमक उठी और भैया ने मेरी छूट को चूम लिया और अपनी झिब से मेरी छूट को चाटने लगे, तभी मुझे ज़ोर से पेशाब लगी और मैने भैया का मूह अपनी छूट से हटा दिया और मूतने लगी मेरी छूट से मूत की मोटी धार सी सी आवाज़ से बहने लगी.
तभी भैया ने अपना मूह मेरी छूट से लगा लिया और मेरे मूत पीने लगे, जब मैं मूत चुकी तो भैया ने अपनी झिब से मेरी छूट को छत कर अच्छी तरह से सॉफ कर दिया.
फिर मुझसे बोले अरे वा अनु तेरे मूत का टेस्ट तो बहुत अच्छा है, और मुझे फॉर अपनी गोड मे उठा लिया और मेरी गंद को अपने लंड पर रख कर मुझे वापिस रूम मे ले आए, रूम मे आ कर भैया ने मुझे बेड पर लिटा दिया और मेरी छूट को चाटने लगे और अपना लंड मेरे मूह मे दल दिया.
अब हम 69 की पोज़िशन मे थे और मैं भैया का लंड चुस्स रही थी और भैया मेरी छूट को छत रहे थे, थोरी देर बाद मेरी छूट मे फिर पानी छ्चोड़ दिया और भैया मेरा पूरा पानी पी गये.
अब भैया का लंड भी मेरी चूसा से अपने पूरे जोश मे आ गया और मेरी छूट फाड़ने को तट था और तभी मा ने टोनी भैया का लंड पकड़ा और मेरी छूट पर लगते हुए बोली ले बेटा अब अपना 10 इंच लंबा लंड अपनी बहें की छूट मे घुस्सा कर इश्स साली को अपनी रंडी बना ले.
मा ने भैया के लंड का सूपड़ा मेरी छूट के सुराख पर रख दिया और भैया को ढाका लगाने के लिए बोली और भैया ने एक हल्का आस ढाका मेरी छूट मे मेट और भैया का लंड मेरी छूट से फिसल गया और मेरे पेट पर आ गया और मेरे मूह से आहह निकल गयी.
मा ने फिर भैया के लंड का सूपड़ा मेरी छूट पर अच्छी तरह से रखा और बोली बेटा अब मैने तेरे लंड को तेरी बहें की छूट पर अच्छी तरह से लगा दिया है और भैया ने फिर एक हल्का सा ढाका मारा और भैया के लंड का सूपड़ा मेरी छूट मे घुस्स गया और मेरी छूट मे दर्द होने लगा.
भैया ने एक और ढाका मारा और भैया का लंड मेरी छूट की सील तोड़ता हुआ मेरी छूट मे घुस्स गया और मेरी छूट से खून की धार निकल कर भैया के पेट पर पड़ी और मैं दर्द से छीलाने लगी.
तभी मेरी मा ने अपनी छूट मेरे मूह पर रख दी ताकि मेरे मूह से चीख मे निकल सके और भैया को बोली टोनी अब रुकना मेट आन तेरी बहें की छूट की सील तूने तोड़ दो है और अपना घड़े जैसा लंड अपनी बहें की छूट मे पूरा घुस्सा दो.
भैया ने फिर एक जोरदार ढाका मेरी छूट मे मारा और भैया का आधा लंड मेरी छूट मे घुस्स गया और भैया ने फिर एक जोरदार ढाका मारा और अब भैया का 10 इंच लंड मेरी छूट मे घुस्स कर मेरी छूट की झाड़ तक लग गया और मेरी छूट मे बहुत तेज दर्द होने लगा..
और मा ने अपनी छूट का दबाव मेरे मूह पर बड़ा दिया और मेरे मूह से चीख ना निकल सकी और भैया भी अब मेरी एक चुचि उप हाथ और एक चुचि को मूह मे लेकर चूसने लगा.
थोरी देर बाद जब मेरा दर्द कुच्छ कम हुए और मुझे भी अब मज़ा आने लगा तो मैं अपनी गंद उठा कर नीचे से ढके लगाने लगी और मा की छूट मे अपनी झिब फेरने लगी, अब भैया भी मेरी छूट मे धीर्रे धीर्रे ढके लगाने लगा भैया के ढकों से मुझे मज़ा आने लगा.
तभी मा की छूट ने अपना पानी मेरे मूह मे छ्चोड़ दिया और मैं मा की छूट का सारा पानी पी गयी और मा आन मेरे उप्पर से उठ गयी और टोनी भैया को बोली आने भोसड़ी के कूटे साले अब धीर्रे धीर्रे ढके किउन लगा रहा है तेरी बहें अब तेरे लंड के ढके सहने के लिए तट है अब तू अपने ढकों की स्पीड बड़ा.
ये सुन कर टोनी भैया ने अपने लंड की आधा मेरी छूट से बाहर निकाला और फिर एक जोरदार ढके से अपना पूरा लंड फिर से मेरी छूट मे पेल दिया मैं इतना जोरदार ढके के लिए त्यआर नही थी और जब भैया का लंड मेरी छूट की झाड़ तक गया तो मेरे मूह से सिसकी निकल गयी.
मैं भैया के नीचे से अपनी गंद उठा कर बोली अरे बहें छोड़ साले अब छोड़ तू अपनी बहें को और अपनी बहें की छूट को फाड़ कर भोसड़ा बना दे ये सुन कर भैया को जोश आ गया और वो पूरी स्पीड से मुझे छोड़ते हुए मुझे गली देने लगा और कहने लगा मे साली रंडी कुटिया ले अब देख अपने भाई का कमाल.
वो जानवर की तरह मुझे छोड़ने के साथ मेरे जिस्म उप काटने लगा और मेरी गाल पर ज़ोर से काट लिया अब मैं भी पूरे जोश मे अपने भाई से चूड़ने लगी और आआआः ऊऊओ करने लगी और बोलने लगी..
ओह बहें छोड़ साले छोड़ अपनी बहें को साले तेरे लंड की चोट मेरी बछेड़नी पर पद रही है और मुझे बहुत मज़ा आस रहा है मेरे राजा मेरे भैया अब ज़ोर से छोड़ मुझे और मैं अपनी गंद को उठा उठा कर चूड़ने लगी.
मेरी छूट ने अपना पानी छ्चोड़ दिया पर भैया पर इसका कोई सीट नही हुए और वो अब भी मुझे गली देते हुए छोड़े जा रहे थे और मुझे छोड़ते हुए ब्लोआ ले साली कुटिया पहले तेरी मा को छोड़ने और अब मैं तुझे भी छोड़ कर अपनी रंडी बना लूँगा और तू आज के बाद अपने भाई की रखैल बन कर रहेगी.
फिर मैं अपनी गंद उठाते हुए बोली आबे बहें छोड़ साले पहले अपनी बहें को अच्छी तरह से छोड़ तो ले फिर अपनी मा के साथ अपनी बहें को भी अपनी रखैल बना लेना साले अपनी मा का फटा हिज़ भोसड़ा छोड़ कर मर्द बन रहा है अपनी बहें की छूट छोड़ कर ठंडी करे तो मैं तुझे असली मर्द मनु आस साले छोड़ अपनी बहें को और अपनी बहें को छोड़ कर अपनी बहें की छूट का भोसड़ा बना दे.
ये सुन कर टोनी भैया तो जैसे पागल ही हो गये और मुझे गली देते हुए बोले साली पहले तेरी मा मेरी मर्दानगी को ललकार्ती थी और अब साली तो आज मुझे ललकार रही है तो अब त्यआर तो जा अपने भाई की मर्दानगी देखने के लिए.
भैया पुंजाबमैल की स्पीड से मुझे छोड़ने लगे और मैं भी अब मज़ा ले ले कर चूड़ने लगी और अपनी गंद मटकती हुई आअहह ऊऊऊः ओहो भैया ज़ोर से और ज़ोर से छोड़ो आहह भैया तेरे लंड की चोट मेरी बछेड़नी पर पद रही है आआआहह भैया छोड़ो और ज़ोर से आआआआः ऊऊओ बहें छोड़ छोड़ अपनी बहें को आआआः ऊवू.
फिर मेरी छूट ने अपना पानी छ्चोड़ दिया और भैया अब्भी मुझे छोड़े जा रहे थे और अब मुझसे भैया के लंड की चोट बर्दाश्त नही हो रही थी और मैं भैया के आगे गिड़गिदते हुए भैया को अपना लंड निकालने के लिए बोलने लगी..
और बोली भैया अब मेरी छूट से अपना लंड बाहर निकल लो मैं आपके आगे हाथ जोड़ती हूँ प्लीज़ भैया मुझे छ्चोड़ दो पर भैया पर मेरे गिड़गिदने का कोई असर नही हुआ और भैया ने अपने ढकों की स्पीड और बड़ा दी..
और बोलने लगे साली अभी तो अपने भाई की मर्दानगी को ललकार रही थी और अभ बॉलरही है के मैं तुझे छ्चोड़ दूं अभी तो मेरे लंड को जोश आया है अब ले अपने भाई का लंड और बना दे मुझे पका बहें छोड़ और मेरे सिर के बाल पकड़ कर छोड़ने लगे.
करीब 1 घंटे की चुदाई के बाद भैया के लंड से विरगे की पिचकारी मेरी छूट मे फुट पड़ी और भैया मेरे उप्पर ही पड़े रहे और जब भैया के लंड से पूरा विरगुए मेरी छूट मे झाड़ गया तोहभैया ने अपना लंड खींच कर मेरी छूट से निकाला और भैया का लंड फच की आवाज़ से मेरी छूट से बाहर निकला.
जब मैने भैया का लंड देखा तो भैया का लंड मेरी छूट के खून से लाल था और मेरी छूट का खून भैया के पेट पर भी लगा हुआ था मैं इतना खून देख कर दर्र गयी और मा उप पुच्छने लगी के मा काइया मेरी छूट भैया के लंड ने फाड़ दी.
तो मा मेरी छूट को देख कर हेस्ट हुए भैया का लंड पकड़ कर बोली नही बेटी ये तो आज तेरे भाई के लंड से तेरी छूट की सील टूटी है और तेरी छूट ने अपनी सील टूटने का जशन तेरे भाई के लंड को अपना खून पीला कर मनाया है और भैया का लंड पकड़ कर खेलने लगी.
कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट सेक्षन मे ज़रूर लिखे, ताकि डेसिखहनि पर कहानियों का ये डोर आपके लिए यूँ ही चलता र्हे.
फिर जब मैं बिस्तेर से उठने लगी तो मेरी छूट मे बहुत तेज दर्द होने लगा और भैया ने मुझे अपनी बाहों का सहारा दे कर खड़ा काइया और जब मैं खड़ी हुई तो मेरी छूट से भैया का विरगुए और मेरी छूट का खून निकलने लगा और पूरी बेडशीट भी मेरी छूट के खून से लाल हो गयी थी.
उसके बाद भैया ने मा को भी छोड़ा और जब भैया मा को छोड़ चुके तो मैने मा से पुचछा मा काइया जब तेरी छूट की सील टूटी थी तो तुझे बुत इतना दर्द हुआ था और इतना ही खून भी निकला था.
तो मा ने कहा नही अनु तेरे पापा का लंड तो तेरे भाई के लंड से आधा भी नही था और तेरे पापा मुझे कभी भी अच्छे से छोड़ नही सके अगर तुम दोनो मेरी छूट से ना निकले होते तो इश्स उमर मे तेरे भाई के लंड से चूड़ना मेरे बस की बेस्ट नही थी, फिर यूयेसेस रात भैया ने मुझे और मा को खूब छोड़ा.
उसके बाद भैया हम दोनो मा बेटी को खूब छोड़ते हैं और अब तो मेरी छूट का सुराख भी लगभग 2 इंच खुल गया है
Hi i’m Anu from punjab, meri age 20 year hai, main dk ki regular reader hun aur mujhe iski indian sex story khas karke behen bhai ki chudai ki bahut pasand hain, ab main apni story par ati hun.
Pehle main apni family ke bare me bata dun, meri family me main mera bhai tony age 22, aur meri maa krishna age 42 year hai.
Ye dk par meri pehli story hai jo ekdum sachi hai, main 12th me padti hun, ye story aj se lagbhag 2 year pehle ki hai jab main 10th me padti thi.
Ek din jab mujhe achanak college se jaldi chhuti ho gayi aur main ghar wapis ayi to mujhe apni maa ke room se kuchh ajib si awajen sunai deen aur main dekhne ke liye maa ke room ki taraf gayi.
Jab maine room ke ander jhank kar dekha to mere paon tale se jamin khisk gayi kyoki maa ke room me meri maa aur mera bhai tony dono bilkul nange the aur tony bhaiya maa ki chut chat rahe the aur maa tony bhaiya ka lund chuss rahi thi.
Fir thori der bad maa ne bhaiya ka lund apne muh se nikala to main apne bhai ka lund dekh kar dang reh gayi kyoki tony bhaiya ka lund lagbhag 10 inch lamba aur 3 inch mota tha.
Bhaiya ka lund dekh kar mere pure jism me ajib si sansani fail gayi aur meri chut me tej khujli hone lagi aur mera dil bhi bhaiya se chudne ko karne laga aur mera man kia ke abhi maa ko bhaiya ke pass se bhaga dun aur khud apni chut khol kar bhaiya ka lund apni chut me ghussa lun.
Tabhi bhaiya ne maa ki dono tange uppar utha kar apna lund maa ki chut par rakha aur ek jordar dhaka mara aur bhaiya ka 10 inch lamba lund maa ki chut me sama gaya aur maa bhi apni gand utha kar chudne lagi, maa chudte hue ahhhhh ohhhh kar rahi thi.
Bhaiya bhi pure josh se maa ki chudai kar rahe the aur ab mujhse bhi in dono ki chudai dekhi nahi ja rahi thi aur maine bhi apni salwar khol kar apne hath se apni chut ko masalne lagi.
Par ab mujhse bardasht nahi ho raha tha aur main room ka door khol kar ander gayi aur chikhte hue boli ye kia ho raha hai meri awaj sun kar maa aur bhaiya dono chonk gaye aur meri taraf dekhne lage bhaiya ka lund abhi bhi maa ki chut me hi tha.
Maine fir chillate hue kaha maa ye kia ho raha hai to bhaiya ne ek jhatake me apna lund maa ki chut se nikala aur maa bhi jaldi se uth kar apne kapde pehanene lagi aur tabhi maa ki nazar mujh par padi aur mujhe dekh kar maa ko kuchh rahat milli kyoki main bhi niche se nangi thi aur main apni salwar pehle hi uttar chuki thi.
Fir maa mere pass ayi aur boli anu tu jab ayi to maine gusset me kaha maa tum dono ko sharam ani chahiye ye sab karte hue aur main room se bahar jane lagi.
Tabhi maa ne mujhe pakad kar mujhe bhaiya ki taraf dhaka de diya aur main sidhe bhaiya ke uppar ja kar girri aur bhaiya ka lund mere pet me chubne laga aur maa ne kaha beta aaj iss saali randi ko bhi chod dalo is saali randi ki chut me bhi khujli ho rahi hai aur aaj tum apne ghade jaise lund se apni behen ki chut ki khujli mita do, aur bhaiya ne bhi mujhe apni bahon me jakad liya aur mere honth chumne lage.
Ab me bhi garm hone lagi aur mera ek hath khud hi bhaiya ke lund par challa gaya aur bhaiya ka lund jab mere hath me aya to lund itna garm tha ki ek bar to mujhe laga ke mere hath me koi garm lohe ka rod as gaya hai.
fir maa bhi mere pass ayi aur mere kapde utarne lagi aur maa ne mujhe puri nangi kar diya maa aur bhaiya tho pehle se hi nange the ab hum tino hi pure nange the aur tony bhaiya mere jism se khel rahe the aur main bhi maze se ahhhhhh ohhhhh karne lagi.
Tony bhaiya ka am hath mere kache nimbu jaise chuchi par tha aur meri dusri chuchi ko bhaiya ne apne muh me lekar chusne laga aur do hath se meri chut ko masalne lage, bhaiya ka hath meri chut par padte hi meri chut ne pani chhod diya aur bhaiya ka hath meri chut ke pani se puri tarah se bheeg gaya.
Aur bhaiya ne apne hath se meri chut ka pani chat kar saaf kar diya, fir bhaiya ne apna lund pakad kar mere muh me ghussa diya aur main bhaiya ka lund apne muh me lekar chusne lagi mujhe bhaiya ke lund ka swad bahut achha laga.
Fir bhaiya ne mujhe bed par lita diya aur meri dono tange faila deen aur meri chut ko chum liya aur meri chut ko chum kar bole anu teri chut ke baal bahut bade hain.
pehle main teri chut ke baal saaf kar deta hun aur ye keh kar bhaiya ne mujhe apni goad me utha liya aur bhaiya ka lund meri gand ko touch karne laga aur bhaiya mujhe bathroom me le gaye aur pehle meri chut ko achhi tarah se pani as saaf kia aur fir meri chut par sabun laga kar razor ke sath meri chut ke baal saaf kar diye.
Baal saaf hone ke bad meri komal chut chamak uthi aur bhaiya ne meri chut ko chum liya aur apni jhib se meri chut ko chatne lage, tabhi mujhe jor se peshab lagi aur maine bhaiya ka muh apni chut se hata diya aur mutne lagi meri chut se mut ki moti dhar si si awaj se behne lagi.
Tabhi bhaiya ne apna muh meri chut se laga liya aur mere mut pine lage, jab main mut chuki to bhaiya ne apni jhib se meri chut ko chat kar achhi tarah se saaf kar diya.
Fir mujhse bole are wah anu tere mut ka taste to bahut achha hai, aur mujhe for apni goad me utha liya aur meri gand ko apne lund par rakh kar mujhe wapis room me le aye, room me aa kar bhaiya ne mujhe bed par lita diya aur meri chut ko chatne lage aur apna lund mere muh me dal diya.
Ab hum 69 ki position me the aur main bhaiya ka lund chuss rahi thi aur bhaiya meri chut ko chat rahe the, thori der bad meri chut me fir pani chhod diya aur bhaiya mera pura pani pee gaye.
ab bhaiya ka lund bhi meri chusai se apne pure josh me aa gaya aur meri chut fadne ko that tha aur tabhi maa ne tony bhaiya ka lund pakada aur meri chut par lagate hue boli le beta ab apna 10 inch lamba lund apni behen ki chut me ghussa kar iss sali ko apni randi bana le.
Maa ne bhaiya ke lund ka supada meri chut ke surakh par rakh diya aur bhaiya ko dhaka lagane ke liye boli aur bhaiya ne ek halka as dhaka meri chut me mate aur bhaiya ka lund meri chut se fisal gaya aur mere pet par aa gaya aur mere muh se aahh nikal gayi.
Maa ne fir bhaiya ke lund ka supada meri chut par achhi tarah se rakha aur boli beta ab maine tere lund ko teri behen ki chut par achhi tarah se laga diya hai aur bhaiya ne fir ek halka sa dhaka mara aur bhaiya ke lund ka supada meri chut me ghuss gaya aur meri chut me dard hone laga.
Bhaiya ne ek aur dhaka mara aur bhaiya ka lund meri chut ki seal todta hua meri chut me ghuss gaya aur meri chut se khoon ki dhar nikal kar bhaiya ke pet par padi aur main dard se chilane lagi.
tabhi meri maa ne apni chut mere muh par rakh di taki mere muh se cheekh me nikal sake aur bhaiya ko boli tony ab rukna met an teri behen ki chut ki seal tune tod do hai aur apna ghade jaisa lund apni behen ki chut me pura ghussa do.
Bhaiya ne fir ek jordar dhaka meri chut me mara aur bhaiya ka adha lund meri chut me ghuss gaya aur bhaiya ne fir ek jordar dhaka mara aur ab bhaiya ka 10 inch lund meri chut me ghuss kar meri chut ki jhad tak lag gaya aur meri chut me bahut tej dard hone laga..
Aur maa ne apni chut ka dabav mere muh par bada diya aur mere muh se cheekh na nikal saki aur bhaiya bhi ab meri ek chuchi up hath aur ek chuchi ko muh me lekar chusne laga.
Thori der bad jab mera dard kuchh kam hue aur mujhe bhi ab maza ane laga to main apni gand utha kar niche se dhake lagane lagi aur maa ki chut me apni jhib ferne lagi, ab bhaiya bhi meri chut me dhirre dhirre dhake lagane laga bhaiya ke dhakon se mujhe maza ane laga.
Tabhi maa ki chut ne apna pani mere muh me chhod diya aur main maa ki chut ka sara pani pee gayi aur maa an mere uppar se uth gayi aur tony bhaiya ko boli ane bhosdi ke kute sale ab dhirre dhirre dhake kiun laga raha hai teri behen ab tere lund ke dhake sehne ke liye that hai ab tu apne dhakon ki speed bada.
Ye sun kar tony bhaiya ne apne lund ki adha meri chut se bahar nikala aur fir ek jordar dhake se apna pura lund fir se meri chut me pel diya main itna jordar dhake ke liye tyar nahi thi aur jab bhaiya ka lund meri chut ki jhad tak gaya to mere muh se siski nikal gayi.
Main bhaiya ke niche se apni gand utha kar boli are behen chod sale ab chod tu apni behen ko aur apni behen ki chut ko fad kar bhosda bana de ye sun kar bhaiya ko josh aa gaya aur woh puri speed se mujhe chodte hue mujhe gali dene laga aur kehne laga me sali randi kutia le ab dekh apne bhai ka kamal.
Wo janwar ki tarah mujhe chodne ke sath mere jism up katne laga aur meri gaal par jor se kat liya ab main bhi pure josh me apne bhai se chudne lagi aur aaaaah oooooh karne lagi aur bolne lagi..
Oh behen chod sale chod apni behen ko sale tere lund ki chot meri bachedani par pad rahi hai aur mujhe bahut maza as raha hai mere raja mere bhaiya ab jor se chod mujhe aur main apni gand ko utha utha kar chudne lagi.
Meri chut ne apna pani chhod diya par bhaiya par iska koi seat nahi hue aur woh ab bhi mujhe gali dete hue chode ja rahe the aur mujhe chodte hue bloa le sali kutia pehle teri maa ko chodne aur ab main tujhe bhi chod kar apni randi bana lunga aur tu aj ke bad apne bhai ki rakhail ban kar rahegi.
Fir main apni gand uthate hue boli abe behen chod sale pehle apni behen ko achhi tarah se chod to le fir apni maa ke sath apni behen ko bhi apni rakhail bana lena sale apni maa ka fata his bhosda chod kar mard ban raha hai apni behen ki chut chod kar thandi kare to main tujhe asli mard manu as sale chod apni behen ko aur apni behen ko chod kar apni behen ki chut ka bhosda bana de.
Ye sun kar tony bhaiya to jaise pagal hi ho gaye aur mujhe gali dete hue bole sali pehle teri maa meri mardangi ko lalkarti thi aur ab sali to aaj mujhe lalkar rahi hai to ab tyar to ja apne bhai ki mardangi dekhne ke liye.
Bhaiya punjabmail ki speed se mujhe chodne lage aur main bhi ab maza le le kar chudne lagi aur apni gand matakati hui aaahhhh ooooooh ohoh bhaiya jor se aur jor se chodo aahhhhhh bhaiya tere lund ki chot meri bachedani par pad rahi hai aaaaaahh bhaiya chodo aur jor se aaaaaaah oooooh behen chod chod apni behen ko aaaaaah ooooh.
Fir meri chut ne apna pani chhod diya aur bhaiya abbhi mujhe chode ja rahe the aur ab mujhse bhaiya ke lund ki chot bardasht nahi ho rahi thi aur main bhaiya ke age gidgidate hue bhaiya ko apna lund nikalne ke liye bolne lagi..
Aur boli bhaiya ab meri chut se apna lund bahar nikal lo main apke age hath jodti hun please bhaiya mujhe chhod do par bhaiya par mere gidgidane ka koi asar nahi hua aur bhaiya ne apne dhakon ki speed aur bada di..
Aur bolne lage sali abhi to apne bhai ki mardangi ko lalkar rahi thi aur abh bolrahi hai ke main tujhe chhod dun abhi to mere lund ko josh aya hai ab le apne bhai ka lund aur bana de mujhe paka behen chod aur mere sir ke baal pakad kar chodne lage.
Karib 1 ghante ki chudai ke bad bhaiya ke lund se viruge ki pichkari meri chut me fut padi aur bhaiya mere uppar hi pade rahe aur jab bhaiya ke lund se pura virgue meri chut me jhad gaya tohbhaiya ne apna lund kheench kar meri chut se nikala aur bhaiya ka lund futch ki awaj se meri chut se bahar nikla.
Jab maine bhaiya ka lund dekha to bhaiya ka lund meri chut ke khoon se lal tha aur meri chut ka khoon bhaiya ke pet par bhi laga hua tha main itna khoon dekh kar darr gayi aur maa up puchhne lagi ke maa kia meri chut bhaiya ke lund ne fad di.
To maa meri chut ko dekh kar haste hue bhaiya ka lund pakad kar boli nahi beti ye to aj tere bhai ke lund se teri chut ki seal tuti hai aur teri chut ne apni seal tutne ka jashan tere bhai ke lund ko apna khoon pila kar manaya hai aur bhaiya ka lund pakad kar khelne lagi.
Kahani padhne ke baad apne vichar niche comment section me jarur likhe, taaki DesiKahani par kahaniyon ka ye dor apke liye yun hi chalta rhe.
Fir jab main bister se uthne lagi to meri chut me bahut tej dard hone laga aur bhaiya ne mujhe apni bahon ka sahara de kar khada kia aur jab main khadi hui to meri chut se bhaiya ka virgue aur meri chut ka khoon niklne laga aur puri bedsheet bhi meri chut ke khoon se lal ho gayi thi.
Uske bad bhaiya ne maa ko bhi choda aur jab bhaiya maa ko chod chuke to maine maa se puchha maa kia jab teri chut ki seal tuti thi to tujhe but itna dard hua tha aur itna hi khoon bhi nikla tha.
To maa ne kaha nahi anu tere papa ka lund to tere bhai ke lund se adha bhi nahi tha aur tere papa mujhe kabhi bhi achhe se chod nahi sake agar tum dono meri chut se na nikle hote to iss umar me tere bhai ke lund se chudna mere bas ki best nahi thi, fir uss raat bhaiya ne mujhe aur maa ko khub choda.
Uske bad bhaiya hum dono maa beti ko khub chodte hain aur ab to meri chut ka surakh bhi lagbhag 2 inch khul gaya hai
(Visited 540 times, 87 visits today)

One thought on “भाई का तगड़ा और मोटा लंड

Comments are closed.