बहन ने लोड़ो का स्वाद लिया

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राजेश है. जब सपना की उम्र 18 साल थी और वो 10वीं क्लास में पढ़ती थी. सपना अपने स्कूल की सबसे सुंदर लड़की थी और यही उसका सबसे बड़ा कसूर था. फिर एक दिन सपना अपने स्कूल के किसी लड़के के साथ आपतिजनक हालत में पकड़ी गयी और यह खबर जंगल की आग की तरह फैल गयी.

फिर पिता जी ने तुरंत हुकम दिया कि सपना कल से स्कूल नहीं जाएगी और घर बैठकर ही तैयारी करेगी, अब सपना घर में क़ैद होकर रह गयी थी. में उस समय फाइनल ईयर कॉलेज में पढ़ता था और अब यह सोच सोचकर कि उस लड़के ने सपना के साथ क्या किया होगा? मेरी हालत खराब हो जाती थी. मेरी बुआ का लड़का अमित उस समय एम.ए.सी कर रहा था और चंडीगढ़ हॉस्टल में रहता था, उसके पेरेंट्स दिल्ली में थे. अमित अक्सर हमारे घर आता रहता था और मैंने हमेशा नोट किया था कि वो सपना में बहुत रूचि लेता था.

फिर जब उसे सपना की बात पता चली तो वो पिता जी से बोला कि में सपना को गणित पढ़ा दिया करूँगा क्योंकि सपना का गणित बहुत कमजोर था. अब मुझको दाल में कुछ काला लगा, अमित मेरे बहुत नजदीक था और अपना हर एक सीक्रेट मेरे साथ शेयर कर लेता था.

फिर मैंने अमित से पूछा कि भाई क्या मामला है? तो वो बड़े बिंदास अंदाज़ में बोला कि राजेश, सपना लंड चाहती है और में चूत चाहता हूँ तो फिर देरी किस बात की, अब सपना को में चोदकर ही रहूँगा.

फिर मैंने इस बात का विरोध किया तो वो बोला कि राजेश आज नहीं तो कल कोई ना कोई इस कली को फूल बना ही देगा, फिर यह शुभ काम हम ही क्यों ना कर दें? अब उसकी यह बात मुझे बिजली की तरह झटका दे गयी और यह सोचकर कि सपना जैसी खूबसूरत लड़की को हम चोदेगें, मेरा लंड खड़ा हो गया. अब में और अमित हमेशा सपना को चोदने की तरकीब बनाते रहते, लेकिन हमें मौका नहीं मिल रहा था.

फिर एक दिन अचानक से मेरे दादा जी की मौत हो गयी और मेरे पापा मम्मी को अचानक गाँव जाना पड़ा. अब घर पर में और सपना ही रह गये थे और में यह सोच-सोचकर पागल हो रहा था कि आज रात भंवरे सपना जैसी कली को चूस लेगें. अब मेरी अमित के साथ पूरी प्लानिंग बन चुकी थी.

फिर रात को खाना खाने के बाद में सोने का बहाना करके अपने कमरे में चला गया और टी.वी ऑन करके अमित के कमरे का लाइव सीन देखने लगा. हमने प्लानिंग के अनुसार पहले ही वेबकम अमित के कमरे में लगा दिया था. फिर कुछ देर तक सब नॉर्मल रहा, फिर अमित अपनी जगह से उठा और सपना के पीछे से आकर अपने दोनों हाथ उसकी टॉप में डाल दिए.

अब सपना इसके लिए हरगिज़ तैयार नहीं थी और आज़ाद होने की कोशिश करने लगी थी, लेकिन अमित की मज़बूत पकड़ के सामने वो कुछ ना कर सकी. अब अमित उसकी दोनों चूचीयों को मसल रहा था. अब सपना बार-बार कह रही थी कि भैया ऐसा मत करो, ऐसा मत करो.

फिर तभी अमित बोला कि मेरी बहना बाहर दोस्तों के साथ भी तो करती हो, फिर मेरे में क्या खराबी है? फिर जब सपना का कोई ज़ोर ना चला तो उसने अपने आपको हालात के हवाले कर दिया. अब उसे भी मज़ा आने लगा था और उसकी आँखें मस्ती में बंद होने लगी थी.

करीब 15-20 मिनट तक मसलने के बाद अमित उठा और उसने एक ही झटके में सपना की स्कर्ट और टॉप उतारकर फेंक दी. अब 18 साल की कुँवारी सपना एकदम नंगी थी, अब उसके दूधिया बदन और गुलाब जैसी चूत को देखकर में पागल हुआ जा रहा था. अब अमित की उंगली सपना की चूत पर घूमने लगी थी. फिर अमित ने काफ़ी सारी क्रीम सपना की चूत पर लगाई और अपनी एक उंगली डालनी शुरू कर दी. अब 20-25 मिनट की मेहनत के बाद अमित की तीन उंगलियाँ जन्नत में चली गयी थी.

अब सपना को भी मज़ा आने लगा था और वो भी अपने चूतड़ उछालने लगी थी. फिर तभी अमित ने अपने पूरे कपड़े उतार दिए, बाप रे बाप उसका लंड देखकर मेरा कलेजा मुँह में आ गया था. अब में कभी उसके विशाल लंड को देख रहा था, तो कभी सपना की कुँवारी चूत को देख रहा था. फिर जैसे ही सपना की नज़र अमित के लंड पर पड़ी तो वो चीख पड़ी.

फिर अमित एक मझे हुए खिलाड़ी की तरह सपना को समझाने लगा कि लड़की की चूत तो बड़े से बड़े लंड खा जाती है, यह तो फिर 7 इंच का ही है. अब सपना को पूरी तरह अपने जाल में फंसाने के बाद अमित ने सपना को बेड पर लेटाया और उसकी टाँगों को उठाकर अपने कंधों पर रख लिया. अब अमित अपना सुपाड़ा सपना कि चूत पर रगड़ने लगा था और ऐसा लग रहा था कि जैसे भँवरा कली का जूस पीने को बिल्कुल तैयार हो.

अब तक सपना भी पूरी गर्मी में आ चुकी थी और अमित से अंदर डालने को कहने लगी थी. फिर तभी अमित ने एक करारा शॉट मारते हुए अपना आधा लंड सपना की चूत में डाल दिया और इससे पहले की सपना संभाल पाती अमित ने एक और जबरदस्त शॉट मारा और पूरा सफ़र तय कर दिया. अब सपना दर्द से चिल्लाती रही, लेकिन अमित धक्के पर धक्का मारता रहा.

फिर 15-20 मिनट के बाद सपना का दर्द कुछ कम होने लगा था और उसे भी अच्छा लगने लगा था. अब वो भी प्यार से चुदवाने लगी थी. फिर करीब 5 मिनट के बाद उन दोनों का पानी ऐसे निकाला जैसे वो जन्मों के प्यासे हो. अब सपना की खुशी बता रही थी कि उसे भी बहुत मज़ा आया था. फिर करीब एक घंटे के बाद अमित ने फिर से सपना को पकड़ लिया और दूसरा दौर शुरू करने लगा. इस बार अमित ने सपना को डॉगी स्टाइल में आने को कहा तो सपना तुरंत तैयार हो गयी.

अब कुछ ही मिनट में सपना डॉगी स्टाइल में चुद रही थी, अमित आज उसे पूरी तरह से निचोड़ देना चाहता था. फिर 20-25 के बाद वो दोनों फिर से झड़ हो गये और एक दूसरे की बाहों में ही सो गये. फिर दूसरे दिन अमित कॉलेज चला गया और में घर में ही रह गया. अब सपना रात की चुदाई के कारण बहुत थकी हुई थी.

फिर जब मैंने उससे पूछा तो वो बोली कि भैया गणित की एक्सरसाईज़ बहुत मुश्किल थी और में रात को 2 बजे तक पढ़ती रही. तभी मैंने कहा कि हाँ सपना में जानता हूँ कि एक्सरसाईज़ बहुत मुश्किल थी, क्योंकि 4 घंटे तुम्हारी टागें अमित के कंधों पर थी.

अब सपना इस बात से बिल्कुल मुकर रही थी, लेकिन जब मैंने उसे एक-एक बात बता दी तो वो बच्चों की तरह रोने लगी और विनती करने लगी कि में किसी को कुछ ना कहूँ. फिर मैंने उसे गले से लगाया और कहा कि में यह बात किसी को नहीं कहूँगा, लेकिन तुझे मेरा एक काम करना पड़ेगा जिसके लिए वो तत्काल मान गयी. फिर मैंने उससे कहा कि आज रात उसे मुझसे भी चुदना होगा, अब वो ना नहीं कर सकती थी.

फिर रात को अमित कॉलेज से आते हुए एक ब्लू फिल्म साथ में ले आया. फिर हम खाना खाने के बाद अपने कमरे में चले गये, तो तभी अमित बोला कि आज हम पहले ब्लू फिल्म देखेंगे और फिर उसके बाद सपना ब्लू फिल्म की हिरोईन की तरह एक्टिंग करेगी.

अब सपना ब्लू फिल्म पहली बार देख रही थी और अब उसकी हालत कमज़ोर होती जा रही थी और वो हमारे दोनों के लंड अपने हाथ में पकड़कर ज़ोर- ज़ोर से हिला रही थी. फिर तभी एक झटके में वो उठी और टी.वी बंद करते हुए बोली कि अब मुझसे नहीं रहा जाता है, अब मुझे लंड चाहिए.

फिर उस रात हम दोनो ने सपना को 2-2 बार निचोड़ा और हर संभव स्टाइल में उसकी चुदाई की. फिर अगले दिन मेरे पापा मम्मी आ गये और सब नॉर्मल हो गया. अब बीच-बीच में जब भी मुझे कभी मौका मिलता है तो में सपना की चूची मसल देता था या उसकी चूत सहला देता था, लेकिन इससे ज्यादा और कुछ ना कर सका. अब सपना शादीशुदा है, लेकिन अमित के साथ आज भी उसका रिश्ता है.

(Visited 4 times, 1 visits today)