नींद में भाई ने मेरी चूत में लण्ड पेल दिया

मैं २१ साल की हु, मेरा नाम तन्नू है .मैंने कभी भी अपने भाई गलत निगाह से नहीं देखि, पर वो मुझे हमेशा एक वहसी निगाह से देखता था. मैंने कई बार नोटिस किआ की जब मैं नहाने जाती थी. तो बाथरूम के दरवाजे के छेद से वो मुझे देखता था. धीरे धीरे मुझे ऐसा लगने लगा की, शायद वो जवानी की लुक छिपी की खेल में वो फेल ना हो जाये, क्यों का माँ और पापा का सपना टूट जायेगा, मुझे ऐसा लगने लगा की, मेरा भाई अब पढाई के साथ साथ किसी और चीज की तलाश में रहता है.मेरा पापा कहा करते है की हरेक आदमी किसी ना किसी चीज के लिए भागता है. और जब उससे वो चीज मिल जाये तो फिर उसके लिए वो चीज बड़ी छोटी चीज हो जाती है. मुझे लग रहा था की अगर मैं अपने भाई की जो कामना है वो पूरी कर देती हु तो शायद वो अपने पढाई पर ध्यान देगा.
फिर मैंने पढ़ना सुरु किया सेक्स के बारे में, और मैंने नोटिस भी किया, एक लड़का और एक लड़की जब कभी सुनसान में मिलते है तो वो चिपक जाते है, वो किश करने लगते है. या तो वो बूब्स प्रेस करने लगते है. क्या कारण है. इसलिए की उससे हमेशा नहीं मिलता है. थोड़े समय में ही वो अपने वासना को पूरा कर लेना चाहता है. और आपने गौर किया होगा की जिसकी शादी हो गई है. वो ज्यादा नहीं चिपकता अपने पत्नी से. मैंने कइयों को देखा है, जब कभी पत्नी छेड देती है तब वो गुसा करता है. अरे यार क्या कर रहे हो आपने भी सूना होगा ये बात. तो दोस्तों मैंने सोचा की मुझे अपने माँ बाप के सपनो को पूरा करना है, इसलिए यहाँ आये है पर मेरा भाई जो एक चूत के चक्कर में रहने लगा और पढाई को सेकेंडरी रखने लगा.एक दिन मैंने देखा वो अपने मोबाइल फ़ोन पर एक एडल्ट मूवी देख रहा था. कई बार रात को मैंने देखा जब मैं सो जाती थी तब मैं जो चादर ओढ़ कर सोती थी उसको वो थोड़ा निचे सरका देता था, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। ताकि मेरी चूचियाँ साफ़ साफ़ दिखे, और मैंने तब नोटिस किया था, थोड़े देर बाद उसका बेड चों चों की आवाज करता था , एक दो दिन बाद मैंने देखा की चों चों की आवाज तब आती थी जब वो मूठ मारता था. उसके बाद मैं अपने भाई को ज्यादा तड़पते हुए नहीं देख सकती, पर मैं बोल भी नहीं सकती की तू मेरे से काम चला ले. दूसरे दिन सुबह बाजार गई. और अपने लिए कुछ ज्याद ही हॉट कपड़ा लाई, मैंने दो बनियान टाइप का लाई, और छोटे छोटे स्कर्ट लाई. उस दिन मेरे भाई का बर्थ डेट था, दिन मैं हम दोनों बाहर कहना खाने गए और शाम को मूवी गए, रात में भी वापस आते हुए कहना खाया और वही भाई के लिए केक काटा, मैंने भाई को एक जीन्स और एक शर्ट गिफ्ट किया, पर उसने बोल नहीं तन्नू, ये सब गिफ्ट से कुछ नहीं होगा तुम्हे कुछ ऐसा गिफ्ट देना चाहिए जिसकी जरूरत हो. ये गिफ्ट तो कोई भी दे देगा. मैं सब समझ रही थी की वो कुछ डबल मीनिंग की बात कर रहा है.रात को वापस आये और मैंने कपडा चेंज किया, वही कपडा पहनी, अंदर मैंने ब्रा भी नहीं पहनी अब तो मैं किसी बम से कम नहीं लग रही थी दोस्तों आप खुद ही सोच कर देखो जो आप बनियान पहनते हो वो कोई लड़की पहन ले और छोटा स्कर्ट तो कैसी हॉट लग रही होगी. हां वैसी ही मैं लग रही थी. मेरे निप्पल भी साफ़ साफ़ पता चल रहा था, और मेरी मोटी मोटी गोल गोल जाँघे ओह्ह क्या लग रही थी यार, मेरा भाई तो सन्न रह गया था, देखते ही रह गया, बोल ओह्ह क्या लग रही हो. मुझे तो पता ही नहीं तो की तुम इतनी सुन्दर हो तन्नू, ओह माय गॉड. यार. मैनी मुस्कुरा रही थी.

मैं जब कमरे में चल रही थी तो मेरा भाई मुझे आगे से घूरता था और जब मैं निकल जाती तो पीछे से घूरता, वो फ़िदा हो चूका था, सच बताऊँ दोस्तों मैं भी उस दिन एक नंबर की रंडी बन गई थी. जैसे रोड पर रंडी खड़ी होती है ग्राहक के इन्तजार में उससे कही और ज्यादा रंडी लग रही थी. फिर क्या था, टाइम आ गया सोने का. मैं सोने लगी. पर उस दिन मैं कोई चादर ओढ़ कर नहीं सोई बल्कि ऐसे ही सो गई. रोज रोज लाइट बंद कर देते थे पर उस दिन मैं लाइट बंद नहीं की और मेरा भाई भी नहीं किया वो तो मुझे टक टकी लगा कर देख रहा था.मुझे नींद नहीं आ रही थी. और आपको तो पता है मेरा भाई कैसे सोएगा, किसी शेर के सामने मेमना बांध दो वही हाल था. वो तो मुझे चट करने की फ़िराक में था. मैं सोने का नाटक करने लगी. और आँख बंद कर दी. करीब १ घंटे तक वैसे ही रही तभी ऐसा लगा की किसी ने मेरे निप्पल को अपने ऊँगली से सहलया मैं समझ गई की मेरा भाई ही ही फिर उसने मेरे बूब पे हाथ रख दिया, मैं भी सीधी हो गई, और टांगो को फैला दी. आप खुद सोच कर देख लीजिए मैं कैसी लग रही होंगी. फिर क्या था वो खड़ा रहा थोड़े देर तक, उसके बाद उसने मेरे होठ पर ऊँगली फिराई फिर बूब पे फिराई, और वो धीरे धीरे मेरे बगल में सो गया. मैं भी थोड़ा अलग हो गई ताकि उसको जगह मिल जाए, उसके बाद मैं उसने मेरे बूब्स को दबाने लगा. उसके बाद वो मेरे स्कर्ट को ऊपर कर दिया मैंने उस दिन जान बूझकर पेंटी नहीं पहनी थी. वो फिर मेरे ऊपर चढ़ गया और लैंड में थूक लगा के मेरे टाइट चूत में अपना मोटा लण्ड डालने लगा. ऐसे मैं पहले से चुदी हु, मेरे टूशन सर कई बार चोदे है. मेरा क्लास फेलो भी मुझे चोद चूका है. तो मुझे पता था की लण्ड को चूत में कैसे लेना है. मैंने अपनी टांग को थोड़ा ऊपर किया और उसने अपना लण्ड पेल दिया, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और फिर उसने मेरे बूब्स को हाथ से पकड़ कर मसलने लगा. यकीन नहीं हुआ था की मेरा भाई ऐसा करेगा अपने बहन के साथ और मुझे चोदने लगा. मैंने भी काफी हॉट हो गई थी पर मुझे अपने आप पे काबू रखना था. पर नहीं रख पाई और आँख खोल दी. उसने मेरे आँख खुलते ही कहा. प्लीज मुझे करने दो. प्लीज मुझे करने दो. मैं चुप रही और फिर मैंने अपना हाथ फैला दी और उसको बाहो में भर लिया,अब तो आप समझ ही गए होंगे की फिर क्या? फिर तो चुदाई ही चुदाई. वो मुझे रात भर खूब चोदा मैं भी तृप्त हो गई. मुझे भी जो चाहिए था वो मिल गया और उसको भी जो चाहिए था वो मिल गया, दोनों खुश थे. दूसरे दिन से वो पढाई पर भी ध्यान दे दिया, पर अभी ज्यादा ध्यान मेरे ऊपर ही है.कैसी लगी हम डॉनो भाई बहन की सेक्स स्टोरी , अच्छा लगी तो शेयर करना , अगर कोई मेरी चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो अब जोड़ना Facebook.com/AnjaliSharma

(Visited 9 times, 1 visits today)