गर्ल फ्रेंड को कुतिया बनाकर चोदा

मेरा नाम राहुल है, मैं देखने में सांवला हूँ, कद 5 फीट 6 इंच है, बदन गठीला है, 25 साल का हूँ।
यह कहानी 3 साल पहले की है, मैंने बहुत लोगों की कहानियाँ पढ़ी तो मैं भी प्रेरित हुआ कहानी लिखने को ! आपको अगर कहानी अच्छी लगे तो मेरा उत्साहवर्धन करें !
मैं अब मुंबई में रहता हूँ, पर यह कहानी तब की है जब मैं भोपाल में एक फ़्लैट किराये पर लेकर रहता था, वहाँ मेरे कई दोस्त थे, एक दोस्त था सौरभ, उसकी एक हॉट गर्लफ्रेंड थी, रिया नाम था था !
19 साल की रिया के बारे में क्या कहूँ, 5 फीट 5 इंच लम्बी, गोरी और 36-28-34 का उसका फिगर था, उसे देखते ही लण्ड में एक अजीब सुरूर हो जाता था।
मैं फ्लैट किराये पर लेकर अकेला रहता था पर सौरभ का अपना घर था, वो अपनी गर्लफ्रेंड को अपने घर ले नहीं जा सकता था, तो वह मेरे फ्लैट पर ही उससे मिलता था, कमरा बंद कर के, दरअसल वो चुदाई करता था, मैं फ्लैट बाहर से बंद करके चला जाता था और वो लोग अन्दर 2-3 घंटे तक चुदाई-मस्ती करते थे, जब मुझे कॉल करते, तब मैं आकर बाहर से फ्लैट खोलता था, और वो लोग चले जाते थे।
जब भी रिया मेरे यहाँ आती तो मुझे एक सेक्सी निगाह से देखती थी और कभी कभी अपनी चूची मुझसे सटा देती थी। मेरा दोस्त इस बात से अनभिज्ञ था, मैं उसकी आँखों में अपने लिए सेक्स देख चुका था, तब मुझे भी कभी कभी मन करता था कि इसकी चुदाई कर ही डालूँ, लेकिन फिर दोस्त की गर्लफ्रेंड का ख्याल करके छोड़ देता था।
जब वो लोग चुदाई करके निकलते थे तो रिया संतुष्ट नहीं दिखती थी, वो बार बार मुड़ कर मुझे देखा करती थी, बाय कहती और फ्लायिंग किस देती थी, मेरा दोस्त सोचता था कि ऐसे ही कर रही होगी।
एक दिन की बात है, एग्ज़ाम ख़त्म हुए और कॉलेज में छुट्टियाँ हो गई थी, सब लोग घर जा चुके थे, मैं कुछ दिनों के बाद जाने वाला था। सौरभ अपने परिवार के साथ कहीं टूर पर चला गया था। दिन के दो बज रहे थे, गर्मी का दिन था, मैं लोअर पहने फ्लैट में था। अचानक दरवाजे पर किसी ने दस्तक दी, मैंने जाकर देखा तो रिया थी, गर्मी से परेशान, पसीने में भीगी हुई टॉप और जींस में गजब की दिख रही थी।
मैं उसे अकेला देख कर हैरान हो गया।
खैर, रिया अन्दर आई, मैंने दरवाजा बंद किया, मैं जब पानी लेकर आया तो उसने देखा टॉप निकाल दिया था और ब्रा के ऊपर से मेरा मेरा पतला तौलिया लपेटा हुआ था।
मैंने बोला- यह क्या है?
तो कहने लगी- गर्मी बहुत है।
मेरा लण्ड कब खड़ा हो गया, मुझे पता भी नहीं चला। नीचे जब मैंने देखा तो मेरा 7 इंच का लंड पूरा फॉर्म में खड़ा था।
मैं उसे छिपाने के लिय बैठ गया।
उसने अचानक मेरे लंड पर अपना हाथ रख दिया और बताने लगी- सौरभ मुझे कभी संतुष्ट नहीं कर पाता ! उसका लंड पतला और छोटा है, मैं तुम्हारे लिए पागल हो गई हूँ, मुझे तुम्हारे शरीर की गठीलापन बहुत आकर्षित करता है।
मुझे कुछ भी समझ में नही आ रहा था, वो मेरे लंड को सहलाती जा रही थी और मैं मदहोश होता जा रहा था। उसने मेरे लण्ड को लोअर से निकाल लिया !
अचानक वो मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी, अब मैं बिल्कुल गर्म हो चुका था और उसके मुख की गर्मी से मेरा लंड उफान पर था, मैंने उसे अपनी बाँहों भर लिया और चूमाचाटी करना चालू कर दिया।
उसके होंट इतने अच्छे थे, मुझे बहुत मज़ा आ रहा था, वो पूरा सहयोग कर रही थी जैसे वो आज मुझसे चुदने के ही पूरे मूड में आई थी।
मुझे भी बहुत दिनों से कोई चूत नसीब नहीं हुई थी, मैं उसे पूरे जोश से चूमने लगा, उसके होंट, उसका चेहरा लाल हो गया। किस करते करते मैं उसकी चूचियों को सहलाने लगा और उसकी ब्रा का हुक खोल दिया, वो मेरे सामने अधनंगी हो गई। मै उसे फिर से किस करने लगा और उसकी चूचियों को मसलने लगा, उसकी चूचियाँ बहुत अच्छी गोलाई में थी और बहुत सुन्दर सुडौल थी।
मैं चूचियों को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा, वो मदहोश हो रही थी। मैं बहुत देर तक उसकी चूचियों को चूसता रहा।
अब मैंने उसकी जींस और पैंटी निकाल दी तो देखा कि उसकी चूत पानी छोड़ रही है, मैं उसकी चूत को चाटने लगा, वो ताजा ताजा ही अपनी चूत को चिकनी चमेली बना कर के आई थी।
वो उई अह करने लगी, मैंने अपना काम चालू रखा, जीभ से उसकी फ़ुद्दी को चोदने लगा, वो सिसकार रही थी- ओ राहुल, तुम बहुत अच्छा कर रहे हो, और चूसो मेरी फ़ुद्दी को, सौरभ तो फ़ुद्दू है चुदाई करने में ! मेरी चूत को फाड़ डालो, लण्ड से चोदो ! तुमसे चुदने को मैं कब से बेताब थी, आज मेरी इच्छा पूरी हो रही है !
फिर से उसकी चूत से पानी निकल आया, वो बहुत हॉट हो रही थी, अब मैंने अपना लण्ड जो उफान पर था, रिया की गीली योनि में घुसाने लगा, मेरा लौड़ा मोटा था, तो वो अह इह करने लगी, बोली- धीरे से डालो !
मैंने कहा- रिया रानी आज तो मैं तेरी चूत को फाड़ दूंगा !
थोड़ा झटका दिया तो आधा लंड अन्दर चला गया, वो दर्द में मज़े ले रही थी, मैंने इस बार थोड़ा और तेज़ धक्का दिया और पूरा लंड अन्दर चला गया।
वो इस बार चिल्लाई- मेरी चूत फट गई रे !
मैं कुछ देर तक ऐसे ही रुके रहा और उसकी चूची को सहलाने लगा, थोड़ा चूमा, चाटा तो रिया थोड़ी शांत हुई, उसके बाद मैंने लण्ड को अन्दर बाहर करना चालू किया। उसकी चूचियाँ हिल रही थी, मैं उसकी चूचियों को पकड़ कर चोदने लगा। मैंने उसे फिर कुतिया बना कर चोदा तो पूरा लंड अन्दर जा रहा था।
वो ‘और जोर से चोदो ! और चोदो !’ किए जा रही थी।
मैंने जोर जोर से धक्का देना चालू कर दिया, मुझे ऐसी चूत पहले कभी नहीं मिली थी, मैं खूब मज़े लेकर चोद रहा था। वो बहुत साथ दे रही थी। उसको चोदने में जो मज़ा आ रहा था, क्या बताऊँ ! उसकी चूत पूरी तरह से गद्देदार थी और कसी हुई थी।
सौरभ उसका पहला प्रेमी था और उसे संतुष्ट नही कर पाता था पर आज वो चुदने के पूरे मज़े ले रही थी।
फिर हम लोगों ने आसन बदला, वो ऊपर आ गई और मस्ती में अपनी कमर को हिला हिला कर चुदवाने लगी। कुछ देर के बाद मैं झड़ने लगा, मैंने कहा- रानी, मैं आ रहा हूँ।
उसने कहा- अन्दर ही डालो !
और मैं झड़ गया, पूरा वीर्य उसकी चूत में गिरा दिया और हम लोग अलग हो गये।
फिर वो मेरे ऊपर ही गिर गई और मुझे जोर से सीने से लगा दिया और बोलने लगी- आज मैं संतुष्ट हुई, ऐसे ही लण्ड की मुझे जरूरत है।
उसके बाद मैंने फिर आधे घंटे के बाद चोदा और वो चली गई। उसके बाद जब भी मौका मिलता वो मुझसे चुदने को चली आती, और मैं भी उसे हर बार संतुष्ट करके भेजता था।
Keyword : blowjob, homemade, home, cute, indian, girlfriend, couple, desi, made, aunty, sex mms, sex samachar, Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Chudai Kahani, Free Indian Sex Videos, Desi Sex Videos , Hindi Sex Video, Gujju sex, Tamil sex, Punjabi sex, Marathi sex, Telugu sex movie, xxx movie, sexy, sexy Video clips, indian sex videos, Girlfridn sex video, Hard fucking, teen sex

(Visited 43 times, 2 visits today)