गर्लफ्रेंड की मम्मी को ब्लैकमेल करके चोदा

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राजेश है और में कांदीवली में रहता हूँ. मुझे सेक्स स्टोरी पढ़ना और सेक्स करना बहुत पसंद है, खासकर बड़ी उम्र की औरतों के साथ ज्यादा पसंद है. अब में आपको ज्यादा बोर ना करते हुए सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ. मेरी एक गर्लफ्रेंड हुआ करती थी सोनल, वो बहुत सेक्सी लड़की थी, वो मस्त भरी हुई माल थी. मैंने उसके साथ बहुत मज़े किए थे और वो सेक्स में बहुत खुली सोच की थी. जब हम रीलेशन में थे तो उसने मुझे अपनी मम्मी के कुछ नंगी फोटो भेजी थी और हम उसकी मम्मी के बारे में गंदी-गंदी बातें भी करते थे.
अब मेरी एक्स गर्लफ्रेंड की शादी हो चुकी है तो मेरे पास सेक्स का कोई चान्स नहीं था. फिर मैंने उससे कॉल करके कहा कि मुझे तुझे चोदना है. फिर उसने कहा कि अब में अपनी लाईफ में खुश हूँ और तू प्लीज कोई और ढूंढ ले और फोन रख दिया. अब मुझे बहुत गुस्सा आ रहा था तो मैंने सोचा कि क्यों ना मेरी गर्लफ्रेंड को ब्लैकमेल करके चोदा जाए? क्योंकि मेरे पास उसकी भी नंगी फोटो है.
फिर में वो सारी फोटो देख रहा था और मुझे उसकी मम्मी की भी फोटो दिखाई दी और उस दिन से मैंने सोच लिया कि में इसकी मम्मी को अपनी रखेल बनाऊंगा. अरे में आपको उनके बारे में तो बताना ही भूल गया, उनका नाम ज्योति है, उनकी उम्र 48 साल है और उनकी फिगर वैसे ही है जैसी एक गुजराती औरत की होती है, मस्त भरे हुए बॉल्स और बड़ी-बड़ी गांड. अब में वापस स्टोरी पर आता हूँ. अब मैंने उनको फोन किया, क्योंकि मेरे पास उनका नंबर भी था.
ज्योति आंटी : हैल्लो.
में : हाय, में राजेश बोल रहा हूँ, आपकी बेटी का बॉयफ्रेंड.
ज्योति आंटी : क्या हुआ? मुझे फोन क्यों किया?
में : मेरे पास आपके और आपकी बेटी की कुछ नंगी फोटो है, अगर आप नहीं चाहती कि में यह सारी फोटो दुनिया को दिखाऊँ, तो आपको मेरी रखेल बनकर रहना होगा.
ज्योति आंटी : तुम्हें पता भी है तुम क्या कह रहे हो? में पुलिस रिपोर्ट करूँगी.
में : उसका कोई फायदा नहीं होगा, इसमें बदनामी आपकी होगी और आपके पति की होगी.
ज्योति आंटी : (डर गयी) ऐसा कुछ मत करना, तुम जो कहोगे में करने को तैयार हूँ.
में : आज से तुम मेरी रंडी हो और आज की रात तुम मेरे साथ ही गुजरोगी.
ज्योति आंटी : रात को कैसे आ सकती हूँ? उनसे क्या कहूँगी कि रातभर कहाँ जारी हूँ?
में : वो तुम जानो, अगर तुम मना कर रही हो तो बोलो में अभी सारे फोटो सबको भेज देता हूँ.
ज्योति आंटी : अच्छा ठीक है, में आ जाउंगी कहाँ और कितने बजे आना है मुझे बता देना?
में : आज रात 10 बजे आना है. (मैंने उनको अपना एड्रेस भी दे दिया)
ज्योति आंटी : ठीक है, में पहुँच जाउंगी.
में : आते वक़्त अपनी चड्डी पहनकर मत आना और एक बात आने के बाद मुझे कोई नाटक या रोना धोना नहीं चाहिए, अगर ऐसा कुछ हुआ तो वो तुम्हारे लिए अच्छा नहीं होगा.
ज्योति आंटी : ठीक है तुम जैसा चाहोगे वैसा होगा, कहकर फोन रख दिया.
अब में रात को 10 बजने का इंतजार कर रहा था. फिर उन्होंने मुझे 9:50 को कॉल किया और कहा कि में अभी घर से निकली हूँ, में 10 मिनट में आती हूँ और वो बिल्कुल सही टाईम पर 10 मिनट में आई. फिर मैंने डोर बेल सुनते ही दरवाज़ा खोला और वो अंदर आ गयी और जैसे ही वो अंदर आई तो में उन्हें देखता ही रह गया, वो गुजराती स्टाईल में साड़ी पहनकर आई थी.
अब उनको देखकर लग नहीं रहा था कि वो 50 साल के आस-पास है. फिर में उनके पास गया और पीछे से उनकी गांड पर हाथ रखकर दबा दिया, तो वो वैसे ही आगे हो गयी. फिर मैंने कहा कि अच्छा लगा हाथ लगाकर. फिर मुझे समझ में आया कि उसने अंदर चड्डी नहीं पहनी है. फिर वो कुछ कहती उससे पहले मैंने अपने फोन में उनकी सारी फोटो उनको दिखा दी, अब वो शॉक हो गयी थी.
फिर मैंने उनकी कमर पर अपना हाथ रख दिया और उन्हें अपने बेडरूम में लेकर गया और बेड पर बैठाया और फिर उन्हें पानी के लिए पूछा तो उन्होंने मना कर दिया. फिर मैंने कहा कि आपके लिप्स बहुत सेक्सी है और में उन्हें किस करने लगा. अब वो शॉक हो गयी और उठ गयी और कहने लगी कि ऐसा मत करो, में तुम्हारी माँ जैसी हूँ.
अब मुझे बहुत गुस्सा आया और मैंने कहा कि जाओ यहाँ से, अब मुझे जो करना है वो में करूँगा, यह फोटो अब सबको भेजता हूँ. अब ऐसा कहकर मैंने फोन निकाला, तो वो मुझसे मांफी मांगने के लिए मेरे पैरों में गिर गयी और कहने लगी कि तुम जो कहोगे में करूँगी, लेकिन प्लीज ये फोटो किसी को मत बताना.
फिर मैंने तुरंत अपनी पेंट से मेरा लंड बाहर निकाला और उनके मुँह में दे दिया और उन्हें कहा कि चूस इसे रंडी और ज़ोर-ज़ोर से उनके मुँह में शॉट मारने लगा. फिर मैंने कहा कि दोनों बहनचोद माँ बेटी लंड चूसने में एक नंबर की रंडिया हो. फिर 15 मिनट तक लंड चुसवाने के बाद मैंने उन्हें खड़ा होने कहा और उन्हें सारे कपड़े उतारने को कहा, तो वो 2 मिनट में मेरे सामने पूरी नंगी हो गयी. अब में उनके बूब्स देखकर पागल हो गया और उन्हें चूसने लगा और ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगा. अब वो सिसकारियाँ भर रही थी.
फिर मैंने कहा रंडी नाटक तो ऐसे कर रही है जैसे पहली बार कर रही हो और उनके होठों को चूसने लगा और चूसते-चूसते मैंने अपना एक हाथ बिना बाल वाली चूत पर लगाया और अपनी एक उंगली उसकी चूत में अंदर डाल दी तो वो उछल पड़ी. फिर मैंने उनको नीचे बैठाया और अपना लंड फिर से उसके मुँह में दे दिया.
अब वो मेरा लंड मजे लेकर चूसने लगी थी. फिर मैंने कहा कि मादरचोद आ गयी ना अपनी औकात पर. फिर उन्होंने कहा कि मेरी रंडी बेटी ने जब मुझे रखेल बना ही दिया है तो क्यों ना पूरे मज़े लूँ? और वो ऐसा कहकर मज़े से मेरा लंड चूसने लगी. अब वो गालियाँ देते-देते कह रही थी कि इसके बाप ने मुझे कभी अपना लंड नहीं चुसवाया, साले का अब तो खड़ा भी नहीं होता. फिर मैंने उनको बेड पर पटका और उनके पूरे बदन को चाटना शुरू किया. अब वो और गर्म हो गयी और झड़ गयी. फिर मैंने उन्हें उल्टा घुमाया और उसकी पीठ चाटने लगा.
अब वो सिसकारियाँ लेते हुए गाली दे रही थी और कह रही थी कि डाल दे भड़वे और मत तड़पा. फिर मैंने वैसे ही पीछे से अचानक अपना लंड एक शॉट में पूरा उसकी चूत में घुसा दिया, मेरा लंड बड़ा और मोटा नहीं है, लेकिन किसी भी लेडी को संतुष्ट कर सकता है. फिर मैंने जैसे ही एक झटका मारा तो वो चीख उठी और में बिना रुके झटके मारता गया. फिर मैंने 35 मिनट तक उनकी चुदाई की, उसमें वो 3 बार झड़ गयी. फिर हमने अगले दिन सुबह 11 बजे तक बहुत मज़े किए, जिसमें मैंने उनकी गांड भी मारी.

(Visited 192 times, 1 visits today)