कॉलेज की लड़की की चुदाई उसके घर मे

Surv9pamwp[1]

ये कहानी पिछले साल की है… मैनरा नाम रोहन है…य ए खान्हि मेरी और मेरी आंटी की सेक्स लाइफ पे है.

मेरी आंटी की आगे सिर्फ़ 26 साल ह…आंड उनका 4 साल का लड़का ह…भोथ मॉडर्न और काफ़ी पढ़े लिखे होने की वजह से खफी फ्रॅंक ह…अब तक मैं उनके 18 बार छोड़ चुका हुआ.
स्टार्टिंग ऐसे ह की…लास्ट एअर मैंरे घरवाले भर गये थाइ…सिर्फ़ मैं आंड मैनरा छोटा भाई को छोड़के 2 दिन क लाइ…ह्मरी देख भाल करने क लाइ चाही को बुला दिया था.

मेरी चाही गाँव मैं दादा दादी क साथ रहती थी वाइल चाचा देल्ही मैं जॉब करते थाइ…मैनरा छोटा भाई न्ड आंटी का बेटा दोनो एक ही क्लास मैं थाइ.

मूज़े आंटी शुरू से ही पसंद थी…कॉज़ ज्ब मैं 13 साल का था…मैन्हने उन्हे नाहटे समैन आधा नंगा देखा था…उस समाः उनकी नई नई शादी हुई थी…उनके बूब्स भोथ बड़े आंड गूरे थाइ…वित ब्लॅक निपल्स…वो मैन्हने फर्स्ट टिमैन किसिको वैसे देखा था…मैनरा दिल आ गया उनके.

अब मैं आपको बताता हू उस रात हुआ यू की-

हम सब टीवी देख र्हे थाइ… मैं मेन्ली बोल्लयऊूद सॉंग्स ही देखता हू… मैंने एट्सेटरा चॅनेल लगा रक़ा था… उसपे थोड़ी दायर बाद भीगे होत तेरे इमरान हाशमी का गाना आने लगा…मैं तो पूरा एक्शिटे हो गया…मैंने पूरा गाना देखा…भागल मैं आंटी बी देख र्ही थी…उन्होने म्ना न्ही काइया की चॅनेल चेंज क्रो…मूज़े तोड़ा जोश गगाह…और मैंने रोमैंदी नाउ चॅनेल लगा दिया…5-7 मीं तक ह्म देखते र्हे…उस्मन ब्स लीप लॉक चल र्हे थाइ…थोड़ी दायर बाद आंटी ने खा की चेंज क्रो…बीटी मैंने माना क्र दिया…वो बी देखती र्ही…उन्होने खा की के मैं सोने जा र्ही हू…कोई ढंग की चीज़ लगा लो…मैंने खा की सो जाओ… इतने मैं उन्होने अचानक से रेमोत छीनने क लाइ मुज पर झपटा मारा…रेमोत मैंरे पायट पे था…तो उन्होने मैं पूरा लॉरा पकड़ लिया ग़लती से.वैसे बी टीवी देख क वो पूरा कड़क था…उनके पकड़ने क बाद तो सुकून सा मिला…फ्र वो चूप छाप सॉरी बोलते हुए दूसरे कमरे मैं चली गई.

मैं इतने मैं बहूत खुश था.मैं टीवी वेल कमरे की सोने की टायारी करने लगा…साथ मैं अपना हिला बी रहा था…इतने मैं वो वापस आई और खा की बचे दोनो सो गये है…कल स्कूल बी ह उनकी…मैं उनको उठना न्ही चाहती…सो त्मरे साथ सो र्ही हू.

ह्म सोने चले गये आस यूषुयल.

मैनरा पूरा खड़ा था…बरसात का टिमैन था…तो मैंने चादर ओढ़ ली…और ढेरे ढेरे हिलता रा नियर्ली 30 मीं.

जुब मैंने देखा की आंटी सो गई ह…मैंने उनके गाल पे हाथ फेरा…फिर पायट पे देन टाँगो पे…मूज़े भोथ मज़ा आ रा था…मैंने उनके लिप्स…हिप्स पूरी बॉडी क ऐसे ही 5 मीं तक काइया आंड देन अपना लॅंड निकाला और उनके हाथ मैं रक़ दिया आंड अपने हाथ से दबा दिया…मैं बस हिला ना सका की धार था की खाई जाग ना जाए…बस पका क रक़ा.

मैं तक गया…बस सोचा की निकल लू…उनका हाथ अलग काइया आंड चुलु हो गया निकालने पंत क अंदर.

इतने मैं वो मूड गई…मैं घबरा गया आंड वही रुख़ गया और आँख बंद क्र ली.

मेरी हिलने की हिम्मत न्ही हुई…बस सीधा सा पड़ा रा…..

करीब दस मीं बाद… मेरी पंत मैं एक हाथ आया और लॅंड को सहलाने लगा…मैं ना ही कुछ बोला या हिला बस शांति से लेता रा क़ुकई मूज़े मज़ा आ रा था…बस एक मीं क अंदर मैनरा लॅंड खड़ा हो गया…बस तोड़ा सा मसल क…वो रुख़ गई.

ज्ब मैंने आँख खोली तो वो सो र्ही थी…पर मूज़े टा था की अबी उन्होने ही सहलाया ह मूज़े.

मैं ना घबराया कोइन मेरी आंटी अपने हज़्बेंड से दूर रहती थी…मूज़े पका यक़ीन हुआ की ये प्याससी ह…मैंने इनके ब्लाउस क बटन खोलना चुला क्र दिया…सारे बटन खुलने क बाद…उनके आधे बूब्स देख र्हे थाइ…बाकी आधे ब्रा क पीछे थाइ…मूज़े भोथ अछा सा फील होने लगा…जैसे ही मैं चोली खोलने लगा वो उठ गई…आंड खा”ये क्या क्र र्हे हो”.

सच खु…उस समाः ज़िंदगी मैं फेली बार फटी…मूह से आवाज़ बी न्ही निकले…

मैं तो बस उनके देखता रा…कुछ ना बोला…पूरा दर गया…भोथ ज़ादा.

फिर उन्होने खा की ऐसे न्ही खोलते दर्द होता ह…मैं संजा न्ही इतने मैं वो मैंरे उपर लपक पड़ी…मैंने बी मौका ना छोड़ा…ज़ोर से पकड़ा आंड किस करने लगा…3-4 मीं तक मैं लगा रा…मैनरा मान ही न्ही क्र रा था की मैं छ्चोड़ू…बुत उन्होने खा आयेज बी कुछ क्रना ह?

मैंने जल्दी से अपने कपड़े उतरे उन्होने अपने…मैंने फर्स्ट टिमैन लिव किसी को नंगा देखा था…मैं बस देखता ही रा…वो उस समाः हॉट लग र्ही थी…पर्फेक्ट बॉडी…ऑल वाइट कही कोई बाल न्ही…सबसे बाड़िया तो बूब्स आंड गांद…एक बचा होने क बाद बी उनकी फिगर वैसे ही थी जैसी मैं 5 साल फेले सोची थी.

उन्होने मैं लॅंड पकड़ा आंड हिलने लगी…भोथ मज़ा आया…मैंने खा ज़रा”मूह मैं बी लो”…बुत वो बस हिलती र्ही…फ्र उसपे ठुका आंड खा अब तैयार है…डाल दे…खोल दे खट्टा…मैंने लॅंड लिया आंड उनकी छूट मैं डाल दिया…मैनरा फर्स्ट टिमैन था बीटीये न्ही सकता उस समाः कैसा लगा…उनकी छूट अंदर से खफी सॉफ्ट आंड चिकनी थी…भोथ ही बाड़िया लग रा था…एक मीं क अंदर मैं झाड़ गया…सारा माल उनकी छूट क अंदर निकल दिया….

वो बोली”बस निकल गया तेरा…इतना जल्दी…अबी तो मज़ा आने लगा “.

मैं उनके उपर पद गया…लॅंड छूट मैं ही था…उनके बूब्स मैं मूह क नीचे थाइ…आंटी ने खा…अबी तो कुछ न्ही हुआ…रुख़ टुजे ताइयर क्रती हू.

वो उठी आंड मूज़े किस करने लगी…हर गजाह फ्ले भोथ दायर लिप्स पे…फ्र चीक्स…गाल…नेकह आंड चेस्ट.

मूज़े अछा लग रा था…फ्र खा की मैंरे गुबारो क साथ खेल…मैं अगले 10-15 मीं तक उनके बूब्स को दबाता…चाहता…चूस्ता रा.फिर वो उठी आंड मैंरे लॅंड को हिलने लगी…बेचारा पूरी त्राह लटक रा था…उनके मूह मैं लिया आंड ब्लोवजोब देने लगी…बीच बीच मैं बॉल्स को बी हिला र्ही थी…करीब 5-7 मीं क बाद मैं लॉरा वापस कड़क हो गया…फ्र भी वो चुस्ती र्ही…भोथ भोथ भोथ मज़ा आ रा था…फ्र मूज़े खा की चल अब तू लग जा.

मैं लग्बहग 20 मीं तक कंटिन्युवस क्रटा रा…फ्र पूरा तक गया…बीटी मैनरा लॅंड खड़ा था…फ्र आंटी ने मूज़े नीचे सुलाया आंड खुद लॅंड पे उछलेने लगी…मैंने ब्फ मैं ये पोज़िशन भोथ बार देखी बुत करते समाः अछा लगा…क़ुकई इस्मैन मेरी मैन्हनत कम थी…आंड उपेर से जो वो उछलती उनसे उनकी गांद मैं लॅंड क आस-पास वेल एरिया को छूटी…अछा लग रा था…आंड उनके बूब्स बी हिल र्हे थे…इनसोर्ट टोटल एंजोयमैंन्ट…ज्ब वो ढेरे हुई…तो मैंने उन्हे नीचे लेटया आंड वापस छूट मैं देने लगा…7-8 मीं तक चलता था…अब ह्म दोनो की सांस फूलने लगी…उन्होने खा की बस कर बाकी बाद मैं…बुत मैनरा मान न्ही क्र रा था…मैं भोथ तक गया बुत फ्र बी लॅंड खड़ा था.

मैंने उनसे पूछा की…”मूज़े गांद मैं डालना ह…उन्होने माना क्र दिया…बुत मैंने रीज़न पूछा आंड खा की अबी मैनरा मान न्ही भरा…ज्ब तक पूरा बैठ ना जाके…मूज़े और चूड़ना ह…वो समजदार थी…मेरी भावना समाज गई…खा की चल आज पीछे ट्राइ करते है खाबी काइया न्ही…

वो उल्टा लाइट गई…हातो से गांद बी चूड़ी की आंड खा की जल्दी डाल…बुत अंदर ही न्ही घुसा…मैंने खा की आप घोड़ा बन जाओ…मो वैसे ही बन गई….

नाउ इमॅजिन हाउ कुड ई फील अट तट टिमैन…एक औरत भूत सनडर…पर्फेक्ट फिगर…नीस पे मैंरे सामने झुकी है…पूरी सफीड…गांद आंड छूट दोनो देख र्ही है…मैं पूरा चालू हो गया आंड गुसद डाला अंडर…वो छिला उठी आंड मैं बी…कॉज़ गांद रफ थी…इनको तक़लीफ़ हो र्ही थी…बुत मूज़े उनकी चीक सुनके और जोश आ रा था…मैं ज़ोर ज़ोर से करने लगा…वो भोथ चीलाई…फ्र चुप हो गई आंड उनकी गांद बी अंदर से स्मूद हो गई…

2-3 मीं बाद लगने लगा की वापस निकालने वाला ह…बुत मैं भोथ भोथ भेंकर ताक़ गया…आंड गांद मैं डालने से तक़लीफ़ हो र्ही थी…तो वापस छूट मैं लग गया…वो बी पूरी ताक़ से गई…मैंने 2-3 मीं तो ज़ोर ज़ोर से डाला…फ्र अगले 2-3 ढेरे ढेरे.

मुजसे और न्ही हो रा था…आंटी बी पूरी एग्ज़ॉस्ट हो गई…फ्र मैं अपना हाथ से हिलना चुलु क्र दिया…ज्ब मैं ताक़ गया तो चाही से हॅंजब दिराई.

10 मीं तक न्ही निकला तो आंटी मैं वापस मूह मैं ले लिया आंड मैनरा लॅंड उपेर से मूह मैं लिया आंड नीचे से हाथ से हिला र्ही थी…आ कंबो ऑफ ब्लो आंड हॅंजब.

बस उसके दो मीं बाद ही वापस झाड़ गया…उनके मूह मैं तोड़ा गया बाकी उन्होने बूप्स पे निकल लिया…लास्ट मैं मैनरा लॅंड पूरा अंदर तक चूसा…वो मोमैइंन्ट आज बी याद ह.

उन्होने खा”वाकई मैं तू भोथ अछा ह…भोथ मज़ा आया मूज़े…ऐसा तो ज़िंदगी मैं खबी न्ही चूड़ी…किसी को बताना मत.”

उसके बाद हम कपड़े फेन क सो गये…अबी तक किसी को बी फॅमिली मैं टा न्ही चला ह्मरे बारे मैं…उसके बाद ई फक्ड हेर 16 मोरे टाइम…बुत तीस टिमैन प्रोफेशनल्स की त्राह…ब्फ देख क…डिफरेंट पोज़िशन्स मैं.

(Visited 62 times, 1 visits today)